रिश्वत खोर लेखपाल की एसडीएम ने किया निलंबित, पीएम आवास के लिए लिया था घूस


जौनपुर । बदलापुर तहसील में तैनात लेखपाल सनंदन भट्ट का एक मामले में घूस लेने का वीडियो वायरल हुआ है। इस मामले में एसडीएम ने सोमवार को लेखपाल को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। 
हरिदासपट्टी गांव के लेखपाल सनंदन भट्ट द्वारा गांव निवासी ओम नारायण तिवारी से 8 हजार रुपये घूस मांगने का वीडियो वायरल हो रहा है। ओम नारायण ने डीएम को दिए शिकायती पत्र में आरोप लगाया कि वह अपने बाग में प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास का निर्माण कर रहा था।
गांव के कुछ शरारती तत्वों ने शिकायत की कि यह निर्माण ग्राम समाज की भूमि पर हो रहा है। आरोप है कि लेखपाल सनंदन भट्ट ने उससे आठ हजार रुपये घूस मांगे। न देने पर वह निर्माण कार्य रोकवाने की धमकी देने लगे। उनके नहीं मानने पर तीन हजार रुपये दिये और पांच हजार रुपये बाद में देने की बात कही गई। डीएम ने प्रकरण की जांच एसडीएम लालबहादुर को सौंपी थी। एसडीएम ने तहसीलदार मृदुला दुबे से जांच कराई। तहसीलदार ने लेखपाल को दोषी पाया और उसके निलंबन की संस्तुति कर रिपोर्ट भेज दी।उन्होंने बताया कि एसडीएम लालबहादुर ने सोमवार को लेखपाल सनन्दन भट्ट को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया और रिपोर्ट डीएम को सौंप दी है। 
इस पूरे प्रकरण की शिकायत करने वाले शख्स की लोगों ने खुटहन थाना क्षेत्र के पिलकिच्छा पुल पर पिटाई कर दी, उसने थाने में तहरीर दी है।ओम नारायण तिवारी ने खुटहन थाने में सोमवार को तहरीर दी। आरोप लगाया कि वह अपने साथी इंद्रपति यादव से साथ बाइक से शाहगंज से घर जा रहा था। पिलकिच्छा पुल के पास पहले से ही घात लगाये बैठे पांच-छह मनबढ़ों ने उसे रोक पिटाई की और जेब में रखे पैसे भी छीन लिए।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

इलाहाबाद हाईकोर्ट का ग्रामसभा की जमीन को लेकर डीएम जौनपुर को जानें क्या दिया आदेश

सिकरारा क्षेत्र से गायब हुई दो सगी बहने लखनऊ से हुई बरामद, जानें क्या है कहांनी

ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने दबंगो के कब्जे से मुक्त करायी 30 करोड़ रुपए कीमत की सरकारी जमीन