आखिर भाभी ने अपने देवर का प्राइवेट पार्ट क्यों काटा, क्या है पूरी कहानी


देवर-भाभी जैसे पवित्र रिश्ते को शर्मसार करते हुए कानपुर में एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। घरेलू विवाद पर महिला ने देवर का प्राइवेट पार्ट धारदार हथियार से काट दिया। इसके बाद चाकू से खुद के हाथों की नसें काट ली। शोरगुल सुनकर कमरे में पहुंचे परिजन ने देखा कि देवर-भाभी लहूलुहान हालत में पड़े मिले। घटना की सूचना पर घटनास्थल पहुंची पुलिस ने देवर-भाभी को सीएचसी ले गई, जहां डॉक्टरों ने प्राथमिक उपचार के बाद हैलट अस्पताल के लिए रेफर कर दिया है। फिलहाल युवक की हालत गंभीर बताई जा रही है।
दरअसल कानपुर में बिल्हौर थाना क्षेत्र के बदल नवादा गांव में महिला अपने पति और देवर के साथ रहती है। जानकारी के अनुसार, महिला के अपने देवर से अवैध संबंध हैं, क्‍योंकि उसका पति दिमागी रूप से कमजोर है। बीते शुक्रवार को देवर-भाभी के बीच किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई, जिससे नाराज महिला ने देवर का प्राइवेट पार्ट धारदार हथियार से काट दिया। इसमें उसका देवर सोनू गंभीर रूप से घायल हो गया है। इसके बाद महिला ने भी अपने हाथों की नस काट ली।
गांव में रहने वाले युवक की शादी चार साल पहले हुई थी। शादी के बाद से युवक की दिमागी हालत बिगड़ गई थी। पति की दिमागी हालत ठीक नहीं होने की वजह से महिला आए दिन घर में झगड़ा करती थी। महिला की सास ने बताया कि बड़े बेटे की दिमागी हालत ठीक नहीं है, जिसकी वजह से बहू पूरे परिवार को झूठे मुकदमे में फंसाने और सुसाइड करने की धमकी देती थी। उन्होंने बताया कि छोटा बेटा कमरे में सो रहा था, तभी बहू ने उसके प्राइवेट पार्ट को काट लिया। इसके बाद खुद पर भी चाकू से हमला कर लिया। दोनों का इलाज हैलट अस्पताल में चल रहा है। बहू ने छोटे बेटे की जिंदगी बर्बाद की है। वहीं, बड़े बेटे की दिमागी हालत पहले से ही खराब थी।

इस मामले को लेकर बिल्हौर थाने के एसएसआई विमल प्रकाश वैगा ने कहा कि दोनों को उपचार हेतु भेजा गया है। तहरीर मिलने पर मुकदमा दर्ज कर एक्‍शन लिया जाएगा. साथ ही बताया कि दोनों जिला अस्‍पताल में इलाज चल रहा है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

इलाहाबाद हाईकोर्ट का ग्रामसभा की जमीन को लेकर डीएम जौनपुर को जानें क्या दिया आदेश

सिकरारा क्षेत्र से गायब हुई दो सगी बहने लखनऊ से हुई बरामद, जानें क्या है कहांनी

ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने दबंगो के कब्जे से मुक्त करायी 30 करोड़ रुपए कीमत की सरकारी जमीन