नेचर के बेहद करीब अव्वल दर्जे की पढ़ाई के लिए अशोका इंस्टीट्यूट में दाखिला


नारियल, आंवला, आम, लीची, अमरूद, सेब, आड़ू, चीकू के बाग-बगीचे ही नहीं, दुर्लभ प्रजातियों के औषधीय पौधों का खूबसूरत नजारा आपका दिल छू लेगा

वाराणसी। नेचर के बेहद करीब रहकर अव्वल दर्जे की पढ़ाई और प्लेसमेंट की गारंटी चाहिए तो अशोका इस्टीट्यूट आफ टेक्नालाजी एंड मैनेजमेंट आपके सुनहरे भविष्य के लिए बेहतर पड़ाव है। बनारस के पहड़िया स्थित इस इंस्टीट्यूट में इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट और फार्मेसी में दाखिला लेकर छात्र-छात्राएं अपना भविष्य बेहतर बना सकते हैं। यहां स्टूडेंट्स को दी जाने वाली ट्रेनिंग स्टूडेंट्स के जीवन में तरक्की का रास्ता नया खोल सकती है। दरअसल, यहां ऐसे दक्ष शिक्षक हैं, जो हर परिवेश के स्टूडेंट्स की प्रतिभा निखारने में सक्षम हैं। इंग्लिश स्पीकिंग के साथ पर्सनालिटी डेवलपमेंट की ट्रेनिंग, स्टूडेंट्स को नई राह तो दिखाता ही है, यहां कदम-कदम पर फैली हरियाली और दूर तक फैले लंबे-चौड़े व हरे-भरे खेल के मैदान को देखकर कोई भी झूमने लग जाता है।
प्रकृति के बीच में रहकर पढ़ना और सीखना किसे नहीं भाता। अगर आपको भी नेचर पसंद है और सुकून के पढ़ाई करना चाहते हैं तो अशोका परिसर की हरियाली,  रंग-बिरंगे फूल और पक्षियों की चहचहाहट का का आनंद उठा सकते हैं। यहां के प्राकृतिक नजारों को देखकर आपका मन खिलखिला उठेगा। अशोका इंस्टीट्यूट के अंदर प्रवेश करते ही प्रकृति के खूबसूरत और अद्भुत नजारे आपका मन मोह लेंगे। सिर्फ नारियल, आंवला, आम, लीची, अमरूद, सेब, आड़ू, चीकू के बाग-बगीचे ही नहीं, दुर्लभ प्रजातियों के औषधीय पौधों का खूबसूरत नजारा आपका दिल छू लेगा। शानदार परिवेश में पढ़ाई के साथ अगर उम्दा खाने-पीने के शौकीन हैं तो इंस्टीट्यूट की कैंटीन का विजिट जरूर कीजिए।
अशोका इंस्टीट्यूट में प्रकृति के नजारों को देखकर बरबस ऐसा लगता है कि इस संस्थान को धरती से परे कोई शक्ति संचालित करती है और स्टूडेंट्स का ख्याल रखती है। कोने-कोने में यहां प्रकृति का अद्भुत नजारा देखने को मिलता है। पेड़-पौधे, पत्तियां, खेल का मैदान, शानदार लाइब्रेरी, हर तरह लैब, कैंटीन स्टूडेंट्स के लिए किसी तोहफे से कम नहीं है।
अशोका इंस्टीट्यूट की खूबसूरती हर किसी को अपनी ओर आकर्षित तो करती ही है, पढ़ाई के साथ यहां क्रिकेट, फुटबाल,  वालीबाल और बैडमिंटन खेलना एक अलग ही अनुभूति कराता है। यहां प्रकृति के तमाम अद्भुत नजारे हैं, जिन्हें आप अपने मोबाइल में कैद कर सकते हैं। बारिश ही नहीं, सर्दी और गर्मी के मौसम में भी अशोका इंस्टीट्यूट का सुहावना मौसम हर किसी को लुभाता है। यहां आपके सिर के ऊपर उजले बादल, आंखों के सामने कुदरत के अनोखे नजारे देखने को मिल जाएंगे। स्टूडेंट्स चाहें तो अपने अपने अभिभावक के साथ इंस्टीट्यूट के के खूबसूरत नजारों का दीदार कर सकते हैं।
भगवान बुद्ध की तपोस्थली सारनाथ से बेहद करीब अशोका इंस्टीट्यूट बेहतर पढ़ाई, अनुशासन के अलावा शांति व सुकून का एहसास कराता है। यहां की प्राकृतिक छटा सुखद अहसास कराती है। साफ-सुथरे माहौल में चमचमाती सड़कें और बाग-बगीचे देखने के शौकीन हैं तो अपने लाडले को दाखिला दिलाने के लिए यहां जरूर आइए। प्रकृति के मनोरम वादियों में बेहतरीन पढ़ाई के लिए अशोका इंस्टीट्यूट से बेहतरीन कोई दूसरा शिक्षण संस्थान यूपी में नहीं मिलेगा।
ट्रेनिंग एवं प्लेसमेंट विभाग के प्रभारी ओपी शर्मा कहते हैं कि इंस्टीट्यूट के स्टूडेंट्स को प्लेसमेंट की गारंटी के साथ तमाम कंपनियों में विजिट का अवसर भी मुहैया कराया जाता है। साथ ही समय-समय पर देश-दुनिया के विशेषज्ञों का व्याख्यान भी आयोजित किया जाता है। इंस्टीट्यूट के पास बेहतरीन लैबें हैं जो प्रकृति की गोंद में बैठकर स्टूडेंट्स को पढ़ने, सीखने और आगे बढ़ने का रास्ता दिखाती हैं। कोरोना के संकटकाल के बावजूद इस्टीट्यूट के अधिसंख्य स्टूडेंट्स को जाब प्लेसमेंट मिल चुका है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जौनपुर का बेटा बना यूनिवर्सिटी आफ टोक्यो जापान में प्रोफ़ेसर, लगा बधाईयों का तांता

इलाहाबाद हाईकोर्ट का ग्रामसभा की जमीन को लेकर डीएम जौनपुर को जानें क्या दिया आदेश

सिकरारा क्षेत्र से गायब हुई दो सगी बहने लखनऊ से हुई बरामद, जानें क्या है कहांनी