भगवान राम और सीएम योगी पर अशोभनीय टिप्पणी करने वालों की तलाश अब जौनपुर और गाजीपुर में होगी


जनपद प्रयागराज में भगवान श्रीराम और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर अशोभनीय टिप्पणी के बाद लाइब्रेरी और मुस्लिम बोर्डिंग पर बवाल करने के आरोपित छात्र अब तक पुलिस की गिरफ्त से दूर हैं। फरार आरोपितों की तलाश में पुलिस टीम अब जौनपुर और गाजीपुर जाएगी। घटनास्थल के पास लगे सीसीटीवी के आधार पर तीन और छात्रों की पहचान पुलिस ने की। उनके बारे में विश्वविद्यालय प्रशासन से जानकारी मांगी गई है।
कमरों ताला लगाकर गायब हैं आरोपितों समेत कई अन्य छात्र
इस मामले में जांच कर रही पुलिस जब इलाहाबाद विश्वविद्यालय के मुस्लिम बोर्डिंग हास्टल पहुंची तो वहां पता चला कि नामजद अभियुक्तों के अलावा भी कई छात्र कमरे में ताला लगाकर कहीं चले गए हैं। मंगलवार को पुलिस ने कई अंत:वासियों से आरोपितों के बारे में पूछताछ की थी। इसके बाद ही तमाम छात्र वहां से अचानक गायब हो गए। शायद वह दोबारा पुलिस का सामना नहीं करना चाहते थे। फिलहाल पुलिस का दावा है कि क्राइम ब्रांच को भी गिरफ्तारी में लगाकर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। सोमवार शाम इलाहाबाद विश्वविद्यालय के विज्ञान संकाय के सामने स्थित एक निजी लाइब्रेरी में प्रतियोगी छात्र और मुस्लिम हास्टल के छात्रों के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व भगवान श्रीराम पर अमर्यादित टिप्पणी करने को लेकर झगड़ा, मारपीट हुई। इसके बाद जमकर पथराव और बवाल हुआ। रात को प्रतियोगी छात्र शनि की तहरीर पर मुस्लिम बोर्डिंग हास्टल के मो. सरफराज, मो. ओबैदा, आसिफ खान, मुब्बसीर हारुन, अली नवाज खान, जफर, मो. शबीर, सलाउ्ददीन खान को नामजद करते हुए 60 अज्ञात छात्रों के विरुद्ध बलवा, हमला, धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया था। सीओ अजीत सिंह चौहान का कहना है कि आरोपितों के मूल पते पर टीम भेजी जाएगी।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जौनपुर में बसपा को जोर का झटका करीने से, डॉ जेपी सिंह ने सुभासपा किया ज्वाइन

यूपी: भाजपा ने जारी किया पहले और दूसरे चरण में चुनाव के प्रत्याशियों की सूची,योगी जी लड़ेंगे गोरखपुर से ,देखे सूची

मल्हनी विधायक लकी यादव एवं उनके एक दर्जन समर्थको पर बक्शा थाने में दर्ज हुआ मुकदमा