अखिलेश और जयन्ती की संयुक्त पीसी,यूपी के अधिकारी बना रहे है मतदाताओ पर दबाव - अखिलेश यादव


समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व सीएम अखिलेश यादव आखिर मुजफ्फरनगर पहुंच गए हैं। अखिलेश और चौधरी जयंत की संयुक्त प्रेस वार्ता हुई है। अखिलेश ने मुजफ्फरनगर की जनता से बताया कि मैं दिल्ली में कई घंटे तक हेलीकॉप्टर में बैठा रहा। अखिलेश ने कहा कि यह चुनाव किसानों और नौजवानों के भविष्य का है।
चौधरी जयंत सिंह ने कहा कि अधिकारियों और कर्मचारियों में काफी रोष है। उन्होंने कहा कि कर्मचारी गठबंधन की ओर देख रहा है। जयंत चौधरी ने कहा कि चुनाव के नियमों के अनुपालन पर आरोप लगाया कि उनके प्रत्याशी ने वीडियो वैन चलाने की अनुमति मांगी थी, लेकिन अब तक उन्हें अनुमति नहीं मिली है। वहीं, दूसरी ओर भाजपा के वैन पूरे प्रदेश में चल रहे हैं। इसकी शिकायत हम चुनाव आयोग में करने जा रहे हैं।
वहीं अखिलेश ने कहा कि चुनाव में उत्तर प्रदेश के अधिकारियों को लगाया है ताकि अधिकारियों पर दबाव बनाया जा सके और दवाब में उनका वोट डलवाया जा सके। अखिलेश यादव ने कहा कि आप प्रचार का तेल-घी न खाएं, अपना शुद्ध तेल खरीद कर ही खाएं। उन्होंने कहा कि हमने पहले भी कहा था कि बुंदेलखंड में तेल का कारखाना लगाएंगे।
अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा का गंगा एक्सप्रेसवे तो पता नहीं कब बनेगा। लेकिन सपा और रालोद गठबंधन यहां से लखनऊ के लिए ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस वे जरूर बनाएंगे। वहीं हाईकोर्ट बेंच की मांग के सवाल पर कहा कि गठबंधन इस काम को भी जरूर कराएगा।
अखिलेश यादव ने चौधरी चरण सिंह, बाबा टिकैत, नेता जी और अजित सिंह जी ने समय-समय पर सरकार को जागरूक करने का काम किया है। उन्होंने कहा अब हम गठबंधन कर उनकी विरासत को आगे बढ़ा रहे हैं। अखिलेश ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि इनकी मंशा में खोट है। इसीलिए किसानों को बिना बताए तीन कृषि कानून लाए गए और फिर वोटों के लिए उन्हें वापस भी ले लिया। अखिलेश ने कहा कि मैं किसानों की ताकत की प्रशंसा करता हूं कि सरकार को किसानों के सामने झुकना पड़ा। अखिलेश ने कृषि कानून वापस होने पर किसानों को बधाई दी। अखिलेश यादव ने कहा कि ऐसे काले कानून कभी भी उत्तर प्रदेश में लागू नहीं हो पाएंगे। 
अखिलेश ने कहा बिजली के क्षेत्र में समाजवादी पार्टी ने 300 यूनिट बिजली फ्री, सिंचाई फ्री की घोषणा की है। वहीं एमएसपी की खरीद के लिए जो भी इतंजाम किए जाएंगे, उन्हें गठबंधन की सरकारी करेगी। अखिलेश ने कहा कि किसानों को 15 दिनों में गन्ने का भुगतान किया जाएगा। साथ ही कहा कि छात्रों को पहले भी लैपटॉप बांटे थे अब भी बांटेंगे। उन्होंने समाजवादी पेंशन पहले दी और अब भी देंगे
अखिलेश ने कहा कि अब तो चुनाव आ गए हैं। अब तो भाजपा अपना संकल्प पत्र पढ़ लें। जो उत्तर प्रदेश की जनता से झूठे वादे किए थे, क्या उनमें से कोई वादा पूरा किया है।अखिलेश यादव ने कहा कि हम किसानों को लिए अंत तक लड़ाई लड़ेंगे। इसलिए मैं हमेशा अपनी जेब में एक पोटली लेकर चलता हूं। लाल टोपी और लाल पोटली, मैं उन्हें हराने के लिए और उन्हें भगाने के लिए अन्न संकल्प लेकर चलता हूं। 
अखिलेश ने निशाना साधते हुए कहा भाजपा ने किसानों से कहा कि उनकी आय दोगुनी होगी। फसल समय पर खरीदी जाएगी, उसका भुगतान समय पर होगा। भाजपा आज भी नहीं बता सकती है कि वो तीन कानून क्यों लाए गए थे। वो कानून क्यों वापस ले लिए गए। मैं किसान भाइयों को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि इस तरह के कानून कभी उत्तर प्रदेश में लागू नहीं हो पाएंगे। किसानों को गन्ने के भुगतान के लिए इंतजार नहीं करना पड़े इसके लिए गठबंधन फार्मर्स कॉर्पर्स फंड बनेगा।
वहीं 2017 में आपने राहुल के साथ गठबंधन किया था तब यूपी के लड़कों का नारा दिया था। जयंत के साथ अपनी जोड़ी को आप क्या नाम देंगे? इस सवाल के जवाब में अखिलेश ने कहा कि हम दोनों किसानों के बेटे हैं। अखिलेश ने कहा कि इस बार भाजपा का राजनैतिक पलायन होगा। बाबा मुख्यमंत्री कभी अयोध्या कभी मथुरा से टिकट मांग रहे थे। लेकिन भाजपा ने उन्हें गोरखपुर भेजकर उनका पलायन कर दिया। भाजपा के नेता जो पर्चा बांट रहे हैं वो भी कोरोना बांट रहे हैं।  


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जौनपुर में आज फिर तड़तड़ायी गोलियां एक की मौत दूसरा घायल पहुंचा अस्पताल,छानबीन मे जुटी पुलिस

बिजली कर्मियों हड़ताल को देख, वितरण व्यवस्था संचालन हेतु नोडल और सेक्टर अधिकारी नियुक्त

जानिए मुर्गा काटने के दुकान से कैसे मिला गुड्डू की लाश,पुलिस कर रही है जांच