औषधि और खाद्य विभाग की सह पर जिले में फल फूल रहा है नकली व नशीली दवाओं का कारोबार - राजेन्द्र निगम


जौनपुर। जनपद के दवा व्यवसाय में डिस्काउंट, उपहार और निशुल्क सुविधाओं के प्रलोभन के जरिए अंदर तक घुस चुके नकली, अधोमानक, ओवर रेटिंग का खेल खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है और न ही धोखा खाकर भी अपने धन और स्वास्थ का नुकसान उठा रही जनता को राहत मिलती  दिख रही है । क्योंकि जनपद में नकली और अधोमानक दवा के बड़े रैकेट को औषधि और खाद्य विभाग ने वाक ओवर दे रखा है।
यह आरोप लगाया है जनपद के अग्रणी दवा संगठन केमिस्ट एंड कॉस्मेटिक वेलफेयर एसोसिएशन के महामंत्री राजेंद्र निगम ने प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को किए गए ट्वीट में उन्होंने मामले की जांच कर नकली और अधोमानक दवाओं पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाने और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने आरोप लगाया नकली, नशीली और अधोमानक दवाएं बेचने वाले सिंडिकेट स्थानीय औषधि विभाग के बीच नूरा कुश्ती चलती है।  जिसके तहत पहले दवाओं की सैंपलिंग कर उन्हें जांच के लिए भेजा जाता है सैंपल फेल होने की रिपोर्ट आने के बाद सौदा तय कर अग्रिम कार्यवाही को विलंबित कर दिया जाता है विभाग द्वारा विलंब किए जाने के लाभ उठाकर आरोपी के द्वारा रिपोर्ट को चैलेंज करने का अवसर नहीं मिलता तब तक जांच के लिए सैंपल की गई दवाएं एक्सपायर हो जाती है जब दवाएं एक्सपायर हो जाती है तो आरोपी को संदेह का लाभ मिल जाता है इस प्रकार नकली अधोमानक और नशीली दवा बेचने वाले कानून के शिकंजे से बच जाते हैं। संगठन ने पिछले एक वर्ष में जांच में फेल हुए नकली दवाओं पर हूई कारवाई पर समीक्षा की मांग की है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भीषण सड़क दुर्घटना में दस लोगो की मौत दो दर्जन गम्भीर रूप से घायल, उपचार जारी

यूपी में जौनपुर के माधोपट्टी के बाद संभल औरंगपुर जानें कैसे बना आइएएस आइपीएस की फैक्ट्री

सरकार ने प्रदेश के इन 12 आईपीएस अधिकारियों का किया तबादला