जानते है आखिर माध्यमिक विद्यालय महासंघ संघर्ष करने को क्यों हो गया है मजबूर



प्रदेश सरकार की नई मान्यता नीति के खिलाफ अब स्ववित्तपोषित विद्यालय प्रबन्धक महासंघ ने आन्दोलन की चेतावनी जारी कर दी है। जी हां यूपी बोर्ड से प्रस्तावित विद्यालयों की नई मान्यता शर्तों का विरोध तेज हो गया है। स्ववित्तपोषित विद्यालय प्रबंधक महासंघ ने इन शर्तों के विरोध में 23 सितंबर को विद्यालय बंद करने का निर्णय किया है।
महासंघ के अध्यक्ष हवलदार सिंह व महासचिव संतराम सिंह ने मुख्यमंत्री से प्रस्तावित बदलाव को वापस लेने की मांग की है। उन्होंने कहा कि नई मान्यता शर्तों के अनुसार शहर में 3000 वर्ग मीटर जमीन पूंजीपति ही खरीद सकते हैं।
इन शर्तों से प्रदेश में यूपी बोर्ड के 95 फीसदी विद्यालय बंद हो जाएंगे। शिक्षकों का रोजगार छिनेगा और मध्यम आय वर्ग वाले परिवारों के बच्चे शिक्षा से वंचित हो जाएंगे। महासंघ ने अन्य सभी शिक्षकों व प्रबंधक संगठनों से भी विरोध में एकजुट होने का आह्वान किया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मौसम विभाग का एलर्ट इन 23 जिलो में हवाओ के साथ होगी बरसात

दुर्गा पूजा पंडाल में लगी आग छ: की मौत 50 से अधिक झुलसे सभी बीएचयू ट्रामा सेंटर रेफर

खाकी वर्दी में घूम रहा नकली फर्जी, जालसाज इंस्पेक्टर गिरफ्तार, लड़क‍ियों की श‍िकायत