गहना कोठी मालिक की हत्या ,बेटा ही बना बाप और भाई का कातिल, मां की तहरीर पर पुलिस ने दर्ज की एफआईआर


उत्तर प्रदेश के जनपद अकबरपुर नगर में संपत्ति विवाद को लेकर 02 अगस्त की सुबह एक युवक ने धारदार हथियार से अपने पिता व बड़े भाई की घर में ही नृशंस हत्या कर दी। मां को भी गंभीर रूप से घायल कर दिया। उधर घायल मां की तरफ से भतीजे ने बेटे के अलावा दोनों बहू, समधी व उनके पुत्र पर हत्या व जानलेवा हमले का केस अकबरपुर कोतवाली में दर्ज कराया है।
अकबरपुर नगर के प्रसिद्ध सराफा कारोबारी व गहना कोठी के मालिक कृष्णचंद सोनी (61) के घर बुधवार सुबह जघन्य घटना को उनके ही छोटे बेटे रवि ने अंजाम दे डाला। परिवार में चल रहे विवाद के चलते रवि पिछले कुछ समय से परिवार से अलग रह रहा था। बुधवार सुबह वह अकबरपुर नगर के शहजादपुर कोल्ड स्टोरेज के निकट स्थित घर पहुंचा। वहां अगले हिस्से में मौजूद अपने पिता से कहासुनी के बाद उसने धारदार हथियार से उन पर ताबड़तोड़ प्रहार कर हत्या कर दी।
पिता की आवाज सुनकर साथ रह रहा बड़ा पुत्र आनंद (35) आगे की तरफ बढ़ा तो रवि ने गलियारे में पहुंचकर उसकी भी धारदार हथियार से हत्या कर दी। इसी बीच पिछले हिस्से में पूजा कर रहीं मां सुनीता (55) दौड़ीं तो उसने उन पर भी प्रहार कर दिया। सिर व हाथ पैर में गंभीर चोट लगने से वे वहीं गिर पड़ीं। इसके बाद रवि घर में बाहर से ताला बंद कर फरार हो गया। थोड़ी देर बाद घायल सुनीता किसी तरह मुख्य सड़क के किनारे स्थित अगले हिस्से में पहुंचीं और गुहार लगाई।
स्थानीय लोगों ने वहां पहुंचकर ताला तोड़ा। इसी बीच पुलिस टीम भी पहुंच गई। घायल को फौरन जिला अस्पताल भेजा गया जबकि दोनों शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया। आईजी अयोध्या प्रवीण कुमार ने घटनास्थल पहुंचकर जायजा लिया। बाद में घायल महिला की तरफ से उनके भतीजे दीपक सोनी ने छोटे पुत्र रवि सोनी, रवि की पत्नी शालिनी सोनी, दूसरी बहू ज्योति सोनी पत्नी आनंद, समधी राधेश्याम व उनके पुत्र सोनू पर ईंट व रॉड से हमलाकर हत्या करने व जानलेवा हमला करने की धारा में केस दर्ज कराया।
एक ही परिवार के दो सदस्यों की हत्या ने समूचे जिले को झकझोर कर रखा दिया। हर कोई यह जानने का प्रयास कर रहा था कि आखिर किसने इस जघन्य हत्याकांड को अंजाम दिया है। इस बीच घटना से शहजादपुर कोल्ड स्टोरेज के निकट काफी देर तक अफरातफरी का माहौल रहा। जिसने भी घटना के बारे में सुना, वह घटनास्थल की तरफ दौड़ पड़ा। किसने और क्यों इस दोहरे हत्याकांड को अंजाम दिया, इसे जानने की कोशिश में लोग जुटे रहे। काफी देर तक लोगों की भीड़ घटनास्थल पर मौजूद रही।
दोहरे हत्याकांड की चीख अंबेडकरनगर की सीमा से निकलकर अयोध्या मंडल तक गूंजी। जानकारी होते ही आईजी अयोध्या मंडल प्रवीण कुमार ने घटनास्थल पर पहुंचकर जायजा लिया। उन्होंने बातचीत के दौरान बताया कि संपत्ति विवाद के चलते पिता व पुत्र की हत्या हुई है। हत्याकांड में अपने ही शामिल रहे हैं। साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं। हत्या में शामिल लोगों को सजा दिलाने के लिए जल्द से जल्द आरोप पत्र दाखिल किया जाएगा। इसके लिए जिम्मेदारों को जरूरी दिशा-निर्देश दिए गए हैं। वैज्ञानिक साक्ष्यों आदि के आधार पर सजा दिलाने पर पूरा जोर रहेगा।
शहजादपुर चौक स्थित जिस गहना कोठी में प्रतिदिन आभूषण खरीदने के लिए उपभोक्ताओं की भीड़ लगी रहती थी वह बुधवार को सन्नाटे में डूबी रही। इसके मालिक कृष्णचंद्र सोनी व उसके पुत्र आनंद की हत्या के बाद गहना कोठी का ताला नहीं खुला। यहां प्रतिदिन बड़ी संख्या में लोग खरीदारी के लिए आते रहे हैं। बुधवार को भी लोग खरीदारी के लिए आए लेकिन दुकान बंद मिली। इसके साथ ही परिवार से जुड़ी सराफे की अन्य दुकानें भी बंद रहीं।

Comments

Popular posts from this blog

16 मई को कक्षा एक से आठ तक के सभी विद्यालय बन्द रहेगे - बीएसए जौनपुर

जौनपुर में चुनावी तापमान बढ़ाने आ रहे है सपा भाजपा और बसपा के ये नेतागण, जाने सभी का कार्यक्रम

अटाला मस्जिद का मुद्दा भी अब पहुंचा न्यायालय की चौखट पर,अटाला माता का मन्दिर बताते हुए परिवाद हुआ दाखिल