पुराने मुकदमों के निस्तारण में तेजी लाने के निर्देश के साथ राजस्व परिषद के अध्यक्ष का निरीक्षण सम्पन्न,सब कुछ आल इज वेल



जौनपुर। राजस्व परिषद के अध्यक्ष हेमन्त राव द्वारा आज शुक्रवार को कलेक्ट्रेट परिसर  स्थित अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व, अपर जिलाधिकारी भू-राजस्व,अतिरिक्त उपजिलाधिकारी प्रथम व द्वितीय कोर्ट सहित विभिन्न कार्यालयों का विस्तृत निरीक्षण किया गया। इस अवसर पर जिला स्तरीय सभी अधिकारी गण मौजूद रहे। निरीक्षण के बाद अध्यक्ष राजस्व परिषद ने सभागार में राजस्व से सम्बन्धित अधिकारियों के साथ बैठक किया।ध्यान देने वाली बात यह है कि निरीक्षण के दौरान राजस्व परिषद के अध्यक्ष को कहीं कोई कमी नहीं मिली सब कुछ आल इज वेल रहा। इससे सहज अनुमान लगाया जा सकता है कि राजस्व परिषद के अध्यक्ष ने कैसा निरीक्षण किया है।
संयुक्त कार्यालय में सामान्य लिपिक हारून रशीद से मासिक समीक्षा बैठक के संबंध में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने प्रशासनिक अधिकारी/न्याय सहायक शैलेन्द्र सिंह से पूंछा कि इस वर्ष पाक्सो के कितने मामले आए हैं और कितने लोगों पर रासुका की कार्यवाही की गई है जिस पर उन्होंने बताया कि पाक्सो के 10 एवं रासुका के एक भी मामले नहीं आए। स्थानीय निकाय लिपिक राजीव श्रीवास्तव से निकाय पटल पर संपादित किए जाने वाले कार्यों का विवरण के संबंध में जानकारी ली। बिल लिपिक से कर्मचारियों के जीएफ पासबुक के अध्ययन स्थिति के संबंध में जानकारी ली और प्रशासनिक अधिकारी शैलेंद्र सिंह की जीपीएफ पासबुक देखा जो की अध्यतन स्थिति में पाई गई।
मुख्य राजस्व लेखाकार ज्ञानचंद मौर्य से स्टांप, परिवहन, खनन, बिजली के आरसी के संबंध में जानकारी ली और निर्देशित किया कि नियमानुसार आरसी के प्रकरण निस्तारित किए जाएं। कृषक दुर्घटना बीमा योजना में लंबित प्रकरणों की जानकारी ली जिसमें पाया कि अभी तक कुल 52 प्रार्थना पत्र लंबित है जिस पर संबंधित के द्वारा बताया गया कि इस प्रकरण में प्रार्थना पत्र स्वीकृत हो चुके है बजट की मांग की गई है जल्द ही सभी मामलों को निस्तारित कर दिया जाएगा।
अध्यक्ष ने डीएलआरसी से जानकारी प्राप्त की कि अब तक कितने भू-माफिया चिन्हित किए गए हैं जिस पर उन्होंने बताया गया कि अब तक कुल 54 भू-माफियाओं को चिन्हित कर कार्रवाई की जा रही है।
मुख्य राजस्व अधिकारी के कोर्ट में वादों के निस्तारण के अद्यतन स्थिति, आदेश एवं रेस्टोरेशन की स्थिति कंप्यूटर पर देखा। अध्यक्ष द्वारा अतिरिक्त उप जिलाधिकारी प्रथम एवं द्वितीय, रिकॉर्ड रूम आदि का निरीक्षण किया गया और निर्देशित किया गया कि सभी कार्यालयों में फाइलों का रख-रखाव सुव्यवस्थित ढंग से किया जाए। कार्यालयों में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखा जाए। मा0 अध्यक्ष जी के द्वारा निरीक्षण के दौरान कलेक्ट्रेट परिसर में पौधरोपण भी किया गया।
बैठक के दौरान अध्यक्ष द्वारा निर्देशित किया गया कि सभी उपजिलाधिकारी एवं तहसीलदार प्राथमिकता पर वादों का निस्तारण कराना सुनिश्चित करें और समय से आदेश को पोर्टल पर अपलोड करें। उन्होंने सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि पुराने वादों के निस्तारण पर अधिक जोर दिया जाए। उपजिलाधिकारी मछलीशहर एवं तहसीलदार मछलीशहर के स्तर पर पुराने वाद अधिक लंबित पाए गए जिस पर उप जिलाधिकारी एवं तहसीलदार के द्वारा बताया गया कि उनके द्वारा तेजी से मुकदमों का निस्तारण किया जा रहा है जल्द से जल्द लंबित मामलों को निस्तारित करा दिया जाएगा। अध्यक्ष द्वारा 31 दिसंबर 23 तक सभी वरासत के मामलों को निस्तारित करने के लिए निर्देश दिए गए। जिलाधिकारी ने कहा कि धारा 24 के लंबित मामलों को भी जल्द से जल्द निस्तारित कराया जाएगा।  अध्यक्ष ने अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व राम अक्षयबर चौहान को के किया कि पुराने पट्टे के प्रकरणों में मौके पर जाकर निस्तारण कराए।अध्यक्ष के द्वारा डिजिटल पड़ताल, बडे बकायेदारों की आरसी, खनन की आरसी, व्यापार कर, ग्राम सभा में भूमि के आवंटन के निस्तारण, तहसीलों में कंप्यूटर की उपलब्धता जनपद में बिजली की स्थिति राहत फंड में अब तक की गई कार्यवाही के संबंध में भी जानकारी प्राप्त की। निरीक्षण के दौरान जिले के सभी शीर्ष हुक्मराना पूरे समय उपस्थित रहे।
----------------------------------------

राजस्व परिषद अध्यक्ष की मौजूदगी में अधिकारियों पर लगे भ्रष्टाचार और न्याय बेचने का आरोप 

जौनपुर। कलेक्ट्रेट परिसर में आये राजस्व परिषद के अध्यक्ष हेमन्त राव द्वारा राजस्व विभाग के विभिन्न विभागो और कोर्ट के कामो के निरीक्षण के दौरान कलेक्ट्रेट के अधिवक्ताओ ने निरीक्षण स्थल पर इकठ्ठा होकर कलेक्ट्रेट के अधिकारियों पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए चैयरमैन तक अपनी आवाज उठाने का प्रयास किया लेकिन पुलिस के शख्त पहरे के कारण अधिवक्ता बाहर शोर मचाते रहे।
अध्यक्ष राजस्व परिषद श्री राव को मुख्य राजस्व अधिकारी (सीआरओ) कोर्ट के निरीक्षण के समय बाहर खड़े बड़ी संख्या में युवा अधिवक्ताओ ने खुला आरोप लगाया गया कि जौनपुर जनपद में न्याय को भ्रष्ट अधिकारी खुलेआम बेच रहे है ऐसे में वादकारियों को न्याय नहीं मिल रहा है। अधिवक्ताओ ने तहसील सदर के नायब तहसीलदार के भ्रष्टाचार की चर्चा उठाया। साथ ही अभिलेखागार के भ्रष्टाचार का मुद्दा उठाया। अध्यक्ष राजस्व परिषद निरीक्षण करते रहे हलांकि अध्यक्ष व्यक्तिगत रूप से अधिवक्ताओ से मिलने से परहेज करते रहे। 

Comments

Popular posts from this blog

डीएम जौनपुर ने चार उप जिलाधिकारियों का बदला कार्यक्षेत्र जानें किसे कहां मिली नयी तैनाती देखे सूची

पुलिस भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले में जौनपुर की अहम भूमिका एसटीएफ को मिली,जानें कहां से जुड़ा है कनेक्शन

जौनपुर में आधा दर्जन से अधिक थानाध्यक्षो का हुआ तबादला,एसपी ने बदला कार्य क्षेत्र