लोकसभा चुनाव: 2022 में विधान सभा के चुनाव के मत बता रहे है कि जौनपुर संसदीय सीट पर किसका रहेगा दबदबा

जौनपुर। लोकसभा चुनाव का विगुल बजने के साथ ही अब गली चट्टी चौराहो पर राजनैतिक समीक्षक भी सक्रिय होते हुए विगत चुनावो से जोड़कर समीक्षाएं शुरू कर दिए है। भाजपा ने जौनपुर संसदीय सीट से अपना पत्ता खोलते हुए जौनपुर के भाजपाई नेताओ को हाशिए पर डालते हुए कांग्रेस से आयातित महाराष्ट्र की राजनीति करने वाले नेता कृपाशंकर सिंह को चुनाव मैदान में उतार दिया है। हलांकि यहां मुख्य विपक्षी दल सपा ने अपना पत्ता नही खोला है। इतना ही नहीं बसपा भी इंतजार ही करती नजर आ रही है।
विगत विधानसभा 2022 के चुनाव परिणाम पर नजर डाली जाये तो जौनपुर संसदीय क्षेत्र में समाजवादी पार्टी का पलरा भारी नजर आता है। वैसे भी कृपाशंकर सिंह अपने राजनैतिक जीवन का सफर महाराष्ट्र से शुरू किए और वर्तमान लोकसभा चुनाव की घोषणा के पहले तक महाराष्ट्र की सियासत का ही हिस्सा रहे है। सपा का प्रत्याशी आने के बाद चुनाव की स्थिति साफ होगी कि ऊंट किस करवट बैठेगा। लेकिन राजनैतिक समीक्षक मानते है कि विपक्ष पत्ता खोलने में अब विलम्ब कर रहा है। राजनैतिक समीक्षको की राय आ रही है कि जौनपुर संसदीय सीट से यदि सपा ने किसी मौर्य को प्रत्याशी घोषित कर दिया तो चुनाव खासा दिलचस्प हो जाएगा।
2022 में हुए विधानसभा चुनाव में जौनपुर संसदीय क्षेत्र की पांच विधान सभा  जौनपुर सदर,शाहगंज,बदलापुर, मुंगराबादशापुर और मल्हनी के चुनाव नतीजो पर नजर डाली जाए तो भाजपा सपा से पीछे ही खड़ी नजर आयेगी। जौनपुर सदर विधान सभा से प्रदेश सरकार के राज्यमंत्री गिरीश चन्द यादव 97760 मतो के साथ 8052 मतो से चुनाव जीते थे।जबकि सपा दूसरे नम्बर पर थी। बदलापुर से भाजपा के रमेश चन्द्र मिश्रा 82391 मत हासिल कर 1326 मतो से जीत दर्ज कराये थे। यहां भी सपा दूसरे नम्बर पर रही है। शाहगंज विधान सभा के परिणाम पर नजर डाली जाये तो यहां पर भाजपा गठबंधन से निषाद पार्टी से चुनाव लड़े रमेश सिंह 89000 मत पाकर सरकारी मशीनरी की कृपा से महज 750 वोट से विजयी घोषित हुए थे। यहां पर भी सपा दूसरे नम्बर पर रही।
इसके बाद अब मल्हनी विधान सभा के परिणाम को देखा जाए तो सपा के लकी यादव 87357 मत हासिल कर बाहुबली नेता धनंजय सिंह को 17527 मतो से हराया यहां भाजपा चौथे स्थान पर रही।दूसरे स्थान पर धनंजय सिंह थे। भाजपा और सपा के मतो में लगभग 85776 मतो का अन्तर रहा भाजपा इतने पीछे खड़ी थी। मुंगराबादशाहपुर विधान सभा में सपा के पंकज पटेल को 92048 मत के साथ 5230 मतो की लीड जनता ने दिया था। इस तरह आंकड़े बता रहे है कि भाजपा को सभी विधानसभाओ में 3 लाख 67 हजार 550 मत मिले थे। जबकि सपा को 4 लाख 48 हजार 428 वोट मिले थे। ये आंकड़े स्पष्ट संकेत कर रहे है कि जौनपुर संसदीय सीट पर किसका दबदबा रहेगा।
अब इन सभी विधान सभाओ के मत को जोड़कर कर राजनैतिक समीक्षक चर्चा करते हुए बता रहे है कि लोक सभा के चुनाव में अगर ईवीएम का कोई खेल नहीं हुआ और निष्पक्ष रूप से परिणाम आये तो निश्चित रूप से सपा का वोट भाजपा से अधिक होगा।राजनैतिक समीक्षक जौनपुर संसदीय क्षेत्र को सपा का गढ़ मानते है। क्योंकि जातीय समीकरण भी यहीं संकेत करते है। खबर तो यह भी वायरल है कि लोकसभा के इस चुनाव में सत्ता की हनक का खुला खेल संभव है।सत्ताधारी दल यानी भाजपा के लोग वोटो की खरीद फरोख्त की भी योजनायें बनाने लगे है। इस पर अगर आयोग की शख्ती रही तो परिणाम चौकाने वाला आ सकता है। अन्यथा जिसकी लाठी उसकी भैस वाली कहावत चरितार्थ हो सकती है। 

Comments

Popular posts from this blog

पूर्व सांसद धनंजय सिंह के प्राइवेट गनर को गोली मारकर हत्या इलाके में कोहराम पुलिस छानबीन में जुटी

सपा ने जारी किया सात लोकसभा के लिए प्रत्याशियों की सूची,जौनपुर से मौर्य समाज पर दांव,बाबू सिंह कुशवाहा प्रत्याशी घोषित देखे सूची

लोकसभा चुनाव के लिए बसपा की चौथी सूची जारी, जानें किसे कहां से लड़ा रही है पार्टी, देखे सूची