पुरानी पेंशन बहाली को लेकर शिक्षको ने एक अप्रैल को मनाया काला दिवस


जौनपुर। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ (नवीन) के प्रांतीय अध्यक्ष धर्मेंद्र यादव के नेतृत्व में यूपी में शिक्षक पदाधिकारियों ने 01 अप्रैल को काला दिवस  के रूप में मनाते हुए सरकार के प्रति कड़ा विरोध किया है। उसी क्रम में जनपद जौनपुर की जिला इकाई अपने पदाधिकारियों के साथ बीआरपी इंटर कॉलेज, जनहित इंटर कॉलेज मोलनापुर सहित विभिन्न विद्यालयों में शिक्षक कर्मचारियों के साथ अपनी बांहों पर काली पट्टी बांधकर "पुरानी पेंशन बहाल करो" का नारा लगाते हुए सरकार के प्रति कड़ा विरोध जताया गया। 
शिक्षकों को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि 1अप्रैल 2005 से नियुक्त लाखों शिक्षक, कर्मचारियों और अधिकारियों के भविष्य से जुड़ी हुई बुढ़ापे की लाठी रूपी पुरानी पेंशन प्रदेश सरकार द्वारा समाप्त कर दी गई। जिसकी पीड़ा झेलते हुए संगठन लगातार पुरानी पेंशन बहाल कराने के लिए संघर्ष किया जा रहा है और संघर्ष को मजबूती प्रदान करने के लिए सभी शिक्षक कर्मचारियों को एकजुट होकर  संगठन को मजबूत करना होगा। वरिष्ठ उपाध्यक्ष डॉ चंद्रसेन ने कहा कि आगामी लोकसभा के चुनाव में उसी राजनीतिक दल को शिक्षक कर्मचारियों का परिवार मतदान करेगा जो उसके बुढ़ापे की पुरानी पेंशन बहाल करेगा। विरोध प्रदर्शन में प्रदेश मंत्री कमलनयन, राजकुमार,प्रधानाचार्य अशोक कुमार यादव, पवन कुमार यादव, विमल श्रीवास्तव, विनीत कुमार, संजय श्रीवास्तव, हीरा लाल, संजीव सिंह, विनोद सिंह, राजीव श्रीवास्तव, जगत प्रकाश श्रीवास्तव, सत्य प्रकाश सरोज शैलेंद्र अस्थाना, डॉ आकाश श्रीवास्तव, सीमा राज, दीक्षा मौर्या ,मंजू देवी आदि शिक्षक एवं शिक्षिका बहनों ने बड़ी तादाद में अपनी बांहों पर काली पट्टी बांधकर विरोध प्रदर्शन किया।

Comments

Popular posts from this blog

बाहुबली नेता एवं पूर्व विधायक के परिवार जनों पर फिर मारपीट और छेड़खानी का मुकदमा हुआ दर्ज, पुलिस जांच पड़ताल में जुटी

भाजपा के प्रत्यशियो की दसवीं सूची जारी, मछलीशहर से भी प्रत्याशी घोषित देखे सूची

लोकसभा चुनाव के लिए बसपा की चौथी सूची जारी, जानें किसे कहां से लड़ा रही है पार्टी, देखे सूची