कोरोना केश कम होने पर जानें कैसे खुलेगा बाजार, डीएम का आदेश अभी अग्रिम आदेश तक जारी है आंशिक कर्फ्यू


जौनपुर। जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में व्यापार संघ के प्रतिनिधियों के साथ बैठक सम्पन्न  हुई। बैठक में कोरोना कर्फ्यू हटाने से पूर्व की तैयारी के संबंध में विस्तार से चर्चा की गई। जिलाधिकारी द्वारा बताया गया कि शासन के  आदेशानुसार जनपद  में कोरोना के सक्रिय मामले 600 से कम होने के उपरांत कर्फ्यू को समाप्त कर दिया जाएगा लेकिन जैसे ही 600 से ज्यादा मामले आएंगे पुनः कर्फ्यू लागू कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि जनपद में कोरोना के मामले 600 से ज्यादा है अतः कर्फ्यू खुलने के पूर्व ही व्यापारी प्रतिनिधि मंडल द्वारा सभी व्यापारियों/दुकानदारों से वार्ता कर ली जाए ताकि कर्फ्यू खुलने के उपरांत कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन न होने पाए।
जिलाधिकारी ने कहा कि चूंकि अभी जनपद में कोरोना संक्रमण की संख्या 600 से अधिक है इसलिए शासन के निर्देशानुसार आंशिक कर्फ्यू जनपद में अग्रिम आदेश तक जारी रहेगा। इस अवधि में शासनदेश के तहत जरूरी सेवायें चलती रहेगी। उलंघन करने वालों के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 से 60 तथा भादवि 188 के तहत कार्रवाई की जायेगी। आदेश का कड़ाई से पालन करने के लिए सभी थाना प्रभारियों एवं अधिकारियों को आदेश दिया गया है। इस अवधि में सेनेटराइजेशन एवं साफ सफाई का काम पूर्ववत चलता रहेगा।


पुलिस अधीक्षक राजकरन नय्यर ने कहा कि जनपद के दुकानदार कोरोना कर्फ्यू खोलने के पूर्व अपनी दुकानों के सामने गोला बनवा ले, जिससे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए सामान को बेचा एवं खरीदा जाए और कोरोना प्रोटोकॉल का पालन सुनिश्चित किया जा सके। 
इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व रामप्रकाश, अपर जिलाधिकारी भू-राजस्व राजकुमार द्विवेदी, अपर पुलिस अधीक्षक व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष दिनेश टण्डन, जिला महामंत्री आरिफ हबीब,  जिला अध्यक्ष अखिल भारतीय व्यापार मंडल श्रवण जायसवाल, श्याम मोहन अग्रवाल, संजीव साहू, सुभाष चंद्र अग्रहरी, संजय, आशीष गुप्ता सहित अन्य अधिकारी एवं व्यापार मंडल के सदस्य उपस्थित रहे।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

चाचा भतीजी में हुआ प्यार, फिर फरार, पकड़े जाने पर हुई दैहिक समीक्षा, अब शादी की तैयारी

58 हजार ग्राम प्रधानो को लेकर योगी सरकार ने लिया अब यह फैसला

जौनपुर में तैनात दुष्कर्म के आरोपी पुलिस इन्सपेक्टर की सेवा हुई समाप्त, जानें क्या है घटना क्रम