अश्लील वीडियो बना कर जबरिया धर्म परिवर्तन कराके कर लिया निकाह,अब पहुंचा जेल



राजधानी लखनऊ के इंदिरा नगर थाना क्षेत्र के अंतर्गत रहने वाली एक बुटीक संचालिका ने कोतवाली में लव जिहाद का मामला दर्ज कराया है। पीड़िता ने आरोपित आबिद हावरी के खिलाफ इंदिरा नगर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है। पीड़िता का कहना है कि आबिद हावरी ने ख़ुद को क्राइम ब्रांच का इंस्पेक्टर आदित्य प्रताप सिंह बताकर उसे अपने प्रेम जाल में फंसा लिया। पीड़िता ने बताया- अब्दुल हावरी ने उसका अश्लील वीडियो बनाकर उसे वायरल करने की धमकी देकर जबरन धर्म परिवर्तन करवाया और उसके बाद निकाह कर लिया। जबकि, उसकी पहले से ही तीन शादियां हो चुकी हैं और उसके सात बच्चे हैं। रिपोर्ट दर्ज होने के बाद रविवार दोपहर पुलिस ने आबिद को गिरफ्तार कर लिया। बुटीक संचालिका का आरोप है कि आबिद उसे ब्लैकमेल कर उससे करीब 20 लाख रुपये और जेवर ऐंठ चुका है। 
इंस्पेक्टर इंदिरानगर अजय त्रिपाठी ने बताया कि आरोपित मूलतः आज़मगढ़ जिले के बखरा फूलपुर का रहने वाला है। अपना नाम आदित्य बताकर वह साल 2015 में पीड़िता के घर पर किराए पर रहने लगा। तभी उसका नंबर ले लिया। उसके बाद बातचीत कर उसे प्रेम जाल में फंसा लिया। वह अंसल गोल्फ सिटी क्रिस्टल पैराडाइज ई ब्लाक में रहता था। अंसल वाले घर पर आफिस के तौर पर ही रहता था। वहां बंदूक और पिस्टल भी रखे था। कई फाइलों में पुलिस से संबंधित फर्जी दस्तावेज भी रखे था। इस कारण उस पर पीड़िता को उसपर विश्वास भी हो गया था। 
इंस्पेक्टर अजय त्रिपाठी ने बताया कि 'वह कई बार महिला को अंसल गोल्फ सिटी स्थित मकान में भी ले गया। वहां पर उसके साथ दुष्कर्म किया। इसके अलावा महिला के घर भी जाता था। आबिद ने प्रेम प्रसंग के दौरान महिला का अश्लील वीडियो भी बना लिया। इसके बाद 12 मई 2016 को जबरन डरा धमकाकर महिला के घर में ही उससे निकाह किया।' पहले से की हैं तीन शादियां, सात बच्चे पीड़िता ने बताया कि आबिद की तीन शादियां पहले ही हो चुकी हैं और उसके सात बच्चे भी हैं। पीड़िता ने कहा कि 'शादी के बाद आबिद उसे अपने घर ले गया। वहां पर उसका नाम बदलकर आयशा के नाम से वोटरआइडी और आधार कार्ड बनवाया। आए दिन प्रताड़ित करता था। इस दौरान पता चला कि तीन शादियां पहले वह और कर चुका है। जिनसे उसके सात बच्चे हैं।' 
पीड़िता ने बताया कि आबिद अपने गांव से पंचायत चुनाव लड़ चुका है। उसने अपनी पोस्टिंग बाराबंकी क्राइम ब्रांच, हैदरगढ़ और सुल्तानपुर में बताया था। पीड़िता ने कहा कि अपनी गाड़ी में पुलिस का लोगो लगाकर उसके घर आता था। वर्दी कभी नहीं पहनकर आया लेकिन वह वर्दी में फोटो दिखाता था। कहता था कि क्राइम ब्रांच वाले वर्दी में नहीं रहते हैं। 2020 में अर्जुनगंज की एक युवती से की थी शादी पीड़िता ने बताया कि फरवरी 2020 में आबिद ने अर्जुनगंज की एक युवती से भी विवाह किया था। बीते साल आबिद ने अर्जुनगंज के सरसवां में रहने वाली एक युवती को भी अपने प्रेम जाल में फंसाया। उस युवती को भी आबिद ने अपना नाम इंस्पेक्टर आदित्य प्रताप सिंह ही बताया था। उसके साथ भी उसने एक बड़े मैरिज लान में विवाह किया था।' जिसके बाद पीड़िता ने शनिवार को इंदिरानगर कोतवाली में आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। शिकायत के बाद इंस्पेक्टर इंदिरानगर अजय त्रिपाठी ने रविवार दोपहर आरोपित आबिद को क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया गया। उसके पास से मिले दस्तावेजों की जांच की जा रही है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

टीईटी साल्वर गिरोह का हुआ भन्डाफोड़, दो गिरफ्तार,एक जौनपुर दूसरा सोनभद्र का निकला

जौनपुर में तैनात दुष्कर्म के आरोपी पुलिस इन्सपेक्टर की सेवा हुई समाप्त, जानें क्या है घटना क्रम

प्रेम प्रपंच में युवकों की जमकर पिटाई, प्रेमी की इलाज के दौरान मौत तो दूसरा साथी गंभीर