सपा में डाॅ के पी यादव के संघर्ष को नहीं भुलाया जा सकता है - लाल बहादुर यादव


जौनपुर। समाजवादी पार्टी कार्यालय पर आज पूर्व मंत्री स्व. डाॅ के पी यादव व पूर्व मंत्री स्व. ओम प्रकाश श्रीवास्तव के मृत्यु के पश्चात श्रद्धांजलि एवं शोकसभा का आयोजन किया गया । इसकी अध्यक्षता करते हुए जिलाध्यक्ष लालबहादुर यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी ने दो महत्वपूर्ण नेताओं को खो दिया जिसमें डाॅ के पी यादव  का संघर्ष कभी भुलाया नहीं जा सकता है। उन्होंने अपने संघर्षों के बल पर अपनी पहचान प्रदेश भर मे बना लिया था वे नेताजी से प्रेरित होकर समाजवादी आन्दोलन में अपनी भागीदारी करनी सुरु कर दी थी और लगातार अपने आंदोलन के बल पर अपनी पहचान बनाई वे समाजवादी सरकार मे दर्जा प्राप्त राज्य मंत्री भी रहे उनका जौनपुर के विकास मे सराहनीय प्रयास रहता था और कार्यकर्ताओं को जोड़ने की क्षमता बहुत अधिक थी वह बहुत सरलता से अपनी बात रखतें थे  2022 के चुनाव को देखते हुए अभी से कैसे समाजवादी सरकार बनाई जाय उसके लिए हमेशा चिन्तन करते रहते थे।

श्रद्धांजलि सभा में मुख्य रूप से पूर्व मंत्री एवं विधायक शैलेंद्र यादव ललई, पूर्व विधायक लल्लन प्रसाद यादव, ओमप्रकाश दूबे बाबा,श्रद्धा यादव, अरशद खाँ, पूर्व मंत्री जगदीश नरायन राय, गुलाब चन्द सरोज, यशवंता यादव, डां अवधनाथ पाल, राजबहादुर यादव ,श्याम बहादुर पाल, राहुल त्रिपाठी, शकील अहमद, संजय सरोज, दीपचंद राम, राजनाथ यादव, डाॅ जितेंद्र यादव,राजेन्द्र प्रसाद टाइगर यादव, पूनम मौर्या, मनोज मौर्य, अनवारुल हक, लालमोहम्मद रायनी, विजय सिंह बागी, शेखू खाँ, महेंद्र यादव, रमापति यादव, अनील दूबे,भानु प्रताप मौर्य, शिवजीत यादव, ऋषि यादव, बाबा यादव, सूर्यभान यादव मालती निषाद आदि उपस्थित रहे संचालन महासचिव हिसामुद्दीन शाह ने किया ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जौनपुर : सुभासपा से जफराबाद विधान सभा सीट पर चुनाव लड़ सकते है डा जेपी सिंह

सपा के घोषित 56 प्रत्याशियों की सूची में जौनपुर के इन चार सीटो के प्रत्याशी घोषित

यूपी के दस सबसे अमीर विधायक : किसी के पास 35 से ज्यादा ट्रक तो कोई चलाता है 15 लाख की बाइक,जानें माननियों की कुंडली