ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने जब आम ग्राहक बन कर जांचा एआरटीओ कार्यालय का सच, दलालो के भरोसे विभाग



जौनपुर। जिले में ज्वाइंट मजिस्ट्रेट (एसडीएम सदर) हिमांशु नागपाल एक कर्मचारी के साथ बाइक से अपना ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के बहाने सीधे एआरटीओ कार्यालय में लाइसेंस पटल पर पहुंच गए। उन्होंने वहां पर तैनात कर्मचारी से ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने की प्रक्रिया पूछी। इस उस कर्मचारी ने उन्हें आम आदमी समझकर बाहर दुकानों पर बैठे दलाल के पास जाने को कहा।
ज्वाइंट मजिस्ट्रेट भी सच जानने के लिए दुकान पर जाने लगे। इसी बीत रास्ते में भी कई दलाल उनसे मिले और लाइसेंस बनवा देने की बात करने लगे। इतना सुनते ही ज्वाइंट मजिस्ट्रेट का पारा सातवें आसमान पर पहुंच गया।
उन्होंने तत्काल लाइन बाजार थाने की पुलिस को मौके पर बुलवाकर मेन गेट बंद कराकर कैंपस में मौजूद लोगों की चेकिंग और पूछताछ शुरू कर दी। दलाल डेंटल कॉलेज की तरफ से बाहर भाग निकले। कर्मचारी भी सहम गए।
इस दौरान दो संदिग्ध लोगों को पुलिस हिरासत में भेज दिया। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने कार्रवाई के संबंधित बाबू के पटल बदलने और एक वेंडर को हटाने के लिए डीएम को पत्र भेज दिया है। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट की इस कार्रवाई से एआरटीओ कार्यालय में दहशत का माहौल है।

Comments

  1. बहुत सुंदर । भ्रष्टाचार इसी प्रकार के निरीक्षण से कम होगा ।

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular posts from this blog

पूर्व सांसद धनंजय सिंह के प्राइवेट गनर को गोली मारकर हत्या इलाके में कोहराम पुलिस छानबीन में जुटी

सपा ने जारी किया सात लोकसभा के लिए प्रत्याशियों की सूची,जौनपुर से मौर्य समाज पर दांव,बाबू सिंह कुशवाहा प्रत्याशी घोषित देखे सूची

लोकसभा चुनाव के लिए बसपा की चौथी सूची जारी, जानें किसे कहां से लड़ा रही है पार्टी, देखे सूची