वीडियो कॉल करके प्रेमी ने लगाई फांसी,प्रेमिका ने काट लिया कलाई और गला

जौनपुर। किसी बात पर आपस में झगड़ा करने के बाद अलग अलग शहरों में रह रहे प्रेमी युगल ने ऐसा बड़ा खौफनाक कदम उठाया कि कोहराम मच गया। पूरे घटना क्रम में युवक ने वीडियो कॉल शुरू कर पहले जौनपुर में फांसी लगाकर जान दे दिया। दूसरी ओर प्रयागराज के ओम गायत्री नगर सलोरी में रहने वाली उसकी प्रेमिका ने अपनी कलाई की नस और गला काट लिया। उसे गंभीर हालत में स्वरूपरानी अस्पताल में भर्ती कराया गया। फोरेंसिक टीम की मदद से कर्नलगंज पुलिस ने कमरे में छानबीन की और ब्लेड बरामद कर लिया। 
जौनपुर के रहने वाले डॉ. सुदर्शन ओम गायत्री नगर में परिवार के साथ रहते हैं। उनकी पत्नी को दिखाई नहीं देता है। वर्तमान में उनकी वाराणसी में तैनाती है। डॉक्टर अपनी पत्नी की देखरेख के लिए जौनपुर से मित्र की बेटी को चार साल से घर पर रखे हुए हैं। छात्रा इंटर पास है। उसने इलाहाबाद विश्वविद्यालय में बीए में दाखिले के लिए परीक्षा दी है। डॉ. सुदर्शन का भतीजा आदर्श पुत्र साहबलाल अक्सर ओम गायत्री नगर आता था। इस बीच छात्रा की आदर्श से दोस्ती हो गई।
डॉ. सुदर्शन सोमवार की रात प्रयागराज लौटे थे। मंगलवार को उन्हें परिवार के साथ तिलक कार्यक्रम में जौनपुर जाना था। इसकी तैयारी चल रही थी। इधर, आदर्श से छात्रा की फोन पर बातचीत हुई। कुछ बहस के बाद मामला बिगड़ गया। थोड़ी देर बाद आदर्श ने जौनपुर में अपने घर में साड़ी से फांसी लगाकर जान दे दी। पुलिस कमरे पर पहुंची तो उसका मोबाइल चालू था और वीडियो रिकार्डिंग चल रही थी। माना गया कि वह वीडियो कॉल पर छात्रा से बातें कर रहा था। दोपहर 12 बजे के करीब युवक की मौत की खबर डॉ.सुदर्शन को मिल गई। डॉक्टर का परिवार परेशान हो गया। छात्रा ने सिर्फ इतना पूछा कि क्या आदर्श की मौत हो गई। हां, सुनकर वह चुपचाप कमरे में चली गई। 
सामान पैक करके डॉक्टर का परिवार जौनपुर निकलने वाला था लेकिन छात्रा गायब थी। उसके कमरे का दरवाजा खटखटाया गया लेकिन वह कुछ नहीं बोली। अंदर से दरवाजा बंद था। डॉक्टर ने अन्य लोगों की मदद से दरवाजे पर तेजी से धक्का दिया तो दरवाजा खुल गया। कमरे के अंदर छात्रा खून से लतपथ पड़ी थी। उसने ब्लेड से कलाई की नस और गला काट लिया था। इस घटना की सूचना मिलते ही सीओ कर्नलगंज अजीत सिंह चौहान और कर्नलगंज पुलिस पहुंच गई। जख्मी छात्रा का अस्पताल में ऑपरेशन किया गया है। उसकी हालत अभी गंभीर बनी है।
छात्रा की आत्महत्या की कोशिश की जानकारी मिलते ही उसके चाचा स्वरूपरानी अस्पताल पहुंचे। उन्होंने बताया कि वह प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करते हैं। डॉक्टर सुदर्शन के घर में वह भी रहते हैं। वह तीन भाई हैं। सबसे बड़े भाई के बेटे के तिलक की तैयारी चल रही थी। इसी कारण वह गांव चले गए थे। डॉक्टर के परिजनों को भी आज जौनपुर पहुंचना था लेकिन इस दौरान यह घटना हो गई। उन लोगों को इस प्रेम कहानी की जानकारी नहीं थी। अब पता चला। इस घटना से परिवार में कोहराम मचा है। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ड्रेस के लिए बच्चे को पीटने वाला प्रिन्सिपल अब पहुंचा सलाखों के पीछे

14 और 15 दिसम्बर 21को जौनपुर रहेंगे सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव,जानें क्या है कार्यक्रम

ओमिक्रॉन से बढ़ी दहशत,पूर्वांचल के जनपदो में भी मिलने लगे संक्रमित मरीज,प्रशासनिक तैयारी तेजम