फर्जी दस्तावेज के आधार प्राचार्य बनने वाले शिक्षक के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत


जौनपुर। थाना बदलापुर कोतवाली क्षेत्र स्थित आदर्श श्रीराम संस्कृत महाविद्यालय छंगापुर लेदुका के प्राचार्य के खिलाफ विद्यालय के प्रबंधक की तहरीर पर पुलिस ने फर्जी कूटरचित और धोखाधड़ी करके नियुक्त प्राप्त करने के आरोप में केस दर्ज किया है।
प्रबंधक संदीप तिवारी ने पुलिस को दी तहरीर में आरोप लगाया कि महाविद्यालय छंगापुर में प्राचार्य पद हेतु विज्ञापन निकाला गया था। इस पर प्राचार्य विनय दुबे ने अपने प्रस्तुत आवेदन पत्र के साथ पांच वर्षीय अध्यापन अनुभव श्री दुर्गा देवी संस्कृत महाविद्यालय जगदीशपुर बलिया का प्रमाणपत्र संलग्न किया था। इसके आधार पर प्रबंध समिति की ओर से विनय दुबे की 21 मार्च 2015 को विद्यालय के प्राचार्य पद पर नियुक्त की गई थी। महाविद्यालय ने संदेह होने पर जब उक्त प्रमाणपत्र की जांच कराई तो प्रमाणपत्र फर्जी पाया गया। ऐसी स्थिति में 2019 में प्रबंध समिति ने विनय दूबे की प्राचार्य पद नियुक्त को तत्काल प्रभाव से निरस्त करते हुए इसकी सूचना जिला विद्यालय निरीक्षक को भेजा, जिस पर डीआईओएस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए प्रबंधक संदीप तिवारी को प्राचार्य विनय दुबे पर केस दर्ज कराने का निर्देश दिया था। इसके बाद प्रबंधक संदीप तिवारी ने पुलिस को प्राचार्य विनय दुबे के खिलाफ तहरीर दी है। जिस पर पुलिस प्राचार्य विनय दूबे पर केस दर्ज किया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जौनपुर में आज फिर तड़तड़ायी गोलियां एक की मौत दूसरा घायल पहुंचा अस्पताल,छानबीन मे जुटी पुलिस

बिजली कर्मियों हड़ताल को देख, वितरण व्यवस्था संचालन हेतु नोडल और सेक्टर अधिकारी नियुक्त

जानिए मुर्गा काटने के दुकान से कैसे मिला गुड्डू की लाश,पुलिस कर रही है जांच