सपा विधायक लकी यादव को बैंक की नोटिस कर्ज की राशि न अदा करने पर आयोग को पत्र देने की चेतावनी,जानें क्या है मामला



जौनपुर। अपनी कार्यप्रणाली एवं पैसे के लेन देन को लेकर अक्सर सुर्खियों में रहने वाले सपा विधायक लकी यादव बैंक का कर्ज न अदा करने को तैयार चर्चा में है सपा के टिकट पर चुनावी जंग में उतरे लकी यादव को बैंक ने पत्र जारी करते हुए चुनाव आयोग की चेतावनी दी है। बैंक के अनुसार मल्हनी के विधायक 2020 में हुए उपचुनाव के बाद लकी यादव ने बैंक से कर्ज लेकर एक फोर्ड एंडेवर गाड़ी खरीदी थी। बैंक द्वारा मल्हनी विधानसभा के सपा विधायक को नोटिस जारी करते हुए लिखा है कि 33 लाख 80 हज़ार रूपए अगर वो नहीं अदा करते हैं तो नोटिस की एक प्रति चुनाव आयोग को भी भेजी जायेगी। लकी यादव द्वारा 60 महीने तक 68 हज़ार रूपए प्रति माह ईएमआई देना था। लेकिन नहीं दिया है।
अब बैंक ने सपा विधायक लकी यादव को
एक लीगल नोटिस जारी की है। जारी की गयी नोटिस में बैंक ने सपा विधायक लकी यादव को लगभग 33 लाख रूपए चुकाने के लिए कहा हैं। ऐसा ना करने पर बैंक ने लीगल नोटिस की एक कॉपी चुनाव आयोग को भेजने की भी बात कही है। दरअसल, लकी यादव ने लोन पर गाड़ी ली थी। मल्हनी विधानसभा 2020 का उपचुनाव जीतने के बाद लकी यादव ने फोर्ड एंडेवर गाडी खरीदी थी। बाजार में गाड़ी की कीमत 40 लाख रुपये से अधिक है। विधायक ने डाउन पेमेंट पर फोर्ड एंडेवर गाड़ी ले ली। विधायक को 60 महीने तक 68,500 रूपए की क़िस्त जमा करनी थी। जिसे नहीं जमा किया गया है।
अब चुनाव के दौरान बैंक की तरफ से विधायक लकी यादव को लीगल नोटिस जारी की गयी है। बैंक द्वारा चेतावनी दी गयी है कि 33,80,896 रूपए 48 घंटे के भीतर जमा कर दें। ऐसा ना करने पर बैंक द्वारा वाद दायर किया जाएगा। इसके अलावा बैंक ने चेतावनी दी है कि लीगल नोटिस की एक कॉपी चुनाव आयोग के साथ भी साझा किया जा सकता है
2020 मल्हनी उपचुनाव में दिए गए हलफनामे के अनुसार सपा के उम्मीदवार के तौर पर लकी यादव ने अपनी सालाना आय 8 ,48,145 रूपए बताई थी। वहीं उनकी पत्नी पुष्पा यादव की सालाना आय 9,75,466 रूपए थी। उनकी पत्नी के नाम टाटा टक्सन गाड़ी है। गाड़ी 2018 में खरीदी गयी है। गाड़ी की कुल कीमत 28 लाख रूपए है। विधायक लकी यादव के पास एक मोटरसाइकिल और चार पहिया गाड़ी स्कार्पियो है। इनकी कुल कीमत 17,95,000 रूपए बताया गया था।


मल्हनी के विधायक एवं पूर्व मंत्री पारसनाथ यादव के निधन के बाद उनके पुत्र लकी यादव को सपा ने उपचुनाव में प्रत्याशी घोषित किया था। मल्हनी की जनता ने स्व पारसनाथ यादव को श्रद्धान्जलि अर्पित करते हुए महज कुछ हजार वोटो के अन्तर से उनकी विरासत उनके पुत्र लकी यादव को सौंप दिया अब विधान सभा के आम चुनाव में सपा ने फिर लकी यादव पर भरोसा जताते हुए टिकट दे दिया है। इस बार फिर उनका सामना भाजपा के बड़े राजनैतिक परिवार एवं बाहुबली नेता एवं पूर्व सांसद धनंजय सिंह से होने वाला है। परिणाम तो 10 मार्च के बाद स्पष्ट होगा लेकिन बैंक की नोटिस ने एक बार फिर लकी यादव को सुर्खियों में खड़ा कर दिया है। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

इलाहाबाद हाईकोर्ट का ग्रामसभा की जमीन को लेकर डीएम जौनपुर को जानें क्या दिया आदेश

सिकरारा क्षेत्र से गायब हुई दो सगी बहने लखनऊ से हुई बरामद, जानें क्या है कहांनी

ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने दबंगो के कब्जे से मुक्त करायी 30 करोड़ रुपए कीमत की सरकारी जमीन