बाल-विवाह समाज के लिए एक अभिशाप -अरविंद शुक्ला


जौनपुर । शासन की मंशा के अनुरूप आज सिरकोनी विकासक्षेत्र के नाथूपुर ग्रामसभा में बाल विवाह के रोकथाम हेतु  कम्पोजिट विद्यालय नाथूपुर के बच्चों ने जन -जागरूकता रैली निकाली और शिक्षकों ने ग्रामसभा में संगोष्ठी का आयोजन किया । बच्चों ने पढ़ने खेलने की उम्र है, बाल विवाह जुर्म है। क्यों दी बच्चों को सजा, बाल विवाह से लो बचा ।बच्चों को पढ़ाने की लो राह, बंद करो ये बाल विवाह। बाल विवाह अपराध है, बच्चों के लिए अभिशाप है । बाल विवाह को रोकेंगे, रोकेंगे हम रोकेंगे के नारे के साथ ग्रामसभा का भ्रमण कर लोगो को जागरूक किया तत्पश्चाप ग्रामसभा में बाल विवाह राठाम हेतु संगोष्ठी का आयोजन किया गया । संगोष्ठी को संबोधित करते हुए प्राथमिक शिक्षक संघ के जिला अध्यक्ष अरविंद शुक्ला ने कहा कि "बाल-विवाह एक  अभिशाप है और इस अभिशाप से मुक्त होना समाज की नैतिक जिम्मेदारी है । पढ़ने -लिखने की कच्ची उम्र में गुड्डे-गुड्डी की तरह बच्चों की शादी करना एक तरह का सामाजिक पाप है और स्वास्थ्य की दृष्टि से डेथ वारंट है । इस अवसर पर उन्होंने ग्रामवासियो को बाल- विवाह करने या उसका समर्थन करने वालो  के लिए सरकारी दंड के प्रावधानों को बताया और शपथ दिलाया कि वे अपने बच्चों की शादी 21 वर्ष से कम उम्र में नही करेंगे ।
संगोष्ठी में अशोक, रीता देवी, सीमा देवी, दिनेश कुमार,शिवकुमारी सहित अन्य ग्रामवासी सहित विद्यालय के शिक्षक  भारती सिंह,रेनू सिंह,राममिलन, अनिल मौर्य,श्वेता पाल,ऋतु गौड़,आकांक्षा मौर्या,बिंदु कुमार गौतम ,समीक्षा सिंह,संजू यादव मौजूद रहे । कार्यक्रम की अध्यक्षता ग्राम प्रधान सुचिता सिंह और संचालन राममिलन ने किया ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन