डीएम ने निरीक्षण अभियान के तहत आश्रम पद्धति विद्यालय और ट्रामा सेंटर का निरीक्षण किया, अव्यवस्थाओं पर दिया शख्त आदेश


जौनपुर। अपने निरीक्षण अभियान के तहत आज जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा ने विकास खण्ड सिरकोनी क्षेत्र स्थित राजकीय आश्रम पद्धति बालिका विद्यालय गयासपुर और स्वास्थ्य विभाग के ट्रामा सेंटर हौज का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान विद्यालय में बच्चो की कम उपस्थित जिलाधिकारी ने लगायी फटकार तो ट्रामा सेंटर पर अनुपस्थित मिले चिकित्सको के खिलाफ कार्यवाई का शख्त निर्देश दिया है।
गयासपुर में बने राजकीय आश्रम पद्धति बालिका विद्यालय का औचक निरीक्षण के दौरान उन्होंने पाया कि विद्यालय में कुल 172 बच्चे नामांकित है लेकिन मौके पर केवल 17 बच्चे उपस्थित रहे। इस पर समाज कल्याण अधिकारी सुनील कुमार सिंह को फटकार लगाते हुए कारण जाना तो समाज कल्याण अधिकारी ने बताया कि खाने का टेंडर नहीं हो पाने की वजह से बच्चे नहीं आ रहे हैं, इस जबाब पर जिलाधिकारी द्वारा कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए निर्देशित किया गया कि जल्द से जल्द भोजन का टेंडर करा कर सुचारू रूप से पठन-पाठन शुरू कराएं।
आश्रम पद्धति के विद्यालय में कुल 21 के सापेक्ष 03 शिक्षक नियुक्त है, जिस पर जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि पत्राचार कर रिक्त पद भरने की कार्यवाही की जाए। उन्होंने परिसर में कर्मचारियों के लिए आवास निर्माण कार्य के संबंध में जानकारी ली और पाया कि निर्माण कार्य की गति बहुत धीमी है, इस मुद्दे पर नाराजगी व्यक्त करते हुए संबंधित निर्माण संस्था को नोटिस देने के निर्देश जिलाधिकारी के द्वारा दिए गया। 
विद्यालय के आसपास झाड़ियां उगी हुई पाई गई जिसे तत्काल सफाई कराए जाने के निर्देश जिलाधिकारी द्वारा दिए गए। जिलाधिकारी के द्वारा छात्रावास, शौचालय सहित विभिन्न कक्षों का बारीकी से निरीक्षण करते हुए कहा कि विद्यालय में सभी प्रकार की व्यवस्थाएं चुस्त-दुरुस्त की जाए। भविष्य में किसी भी प्रकार की शिकायत न मिलने पाए। इस दौरान प्रधानाचार्य अशोक कुमार सिंह, अध्यापिका कामना सिंह एवं शशि मौर्या, छात्रावास इंचार्ज नीता श्रीवास्तव उपस्थित रही।
इसके बाद जिलाधिकारी का काफिला ट्रामा सेंटर हौज का औचक निरीक्षण करने पहुंच गया। निरीक्षण के दौरान अनुपस्थित मिले चिकित्सक के खिलाफ जांच कराकर उचित कार्यवाही करने के शख्त निर्देश जिलाधिकारी ने दिया।इस दौरान जिलाधिकारी के द्वारा दवाओं की उपलब्धता के संबंध में जानकारी प्राप्त की गयी। उन्होंने चिकित्सा अधीक्षक अजय सिंह से विस्तृत जानकारी ली कि दुर्घटना होने के उपरांत किस प्रकार मरीजों का इलाज किया जाता है। 
साथ ही ट्रामा सेंटर में बने ऑपरेशन थिएटर को सक्रिय किये जाने का निर्देश दिया। सिटी टेक्नीशियन अभिषेक कुमार पटेल के द्वारा बताया गया कि ट्रामा सेंटर पर प्रतिदिन 40 से 45 मरीजों का सिटी स्कैन किया जाता है। जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि सीएमएस के व्हाट्सएप पर भी प्रतिदिन सूचना दी जाए कि कितने मरीज जिला अस्पताल से रेफर होकर ट्रामा सेंटर में सिटी स्कैन कराने आते हैं। 
निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी को अवगत कराया गया कि ट्रामा सेंटर में विद्युत आपूर्ति की समस्या रहती है जिससे सीटी स्कैन होने में समस्या उत्पन्न होती है, जिसे गम्भीरता से लेते हुए जिलाधिकारी निर्देश दिया कि एक्सईएन हाइडिल मौके पर निरीक्षण कर ट्रामा सेंटर के फीडर को शहर के फीडर से जोड़ने का कार्य करें। इस दौरान जिलाधिकारी ने स्कैन कराने आए शमीम अंसारी से ट्रामा सेंटर में दी जा रही सुविधाओं के संबंध में जानकारी ली और कहा कि ट्रामा सेंटर में मरीजों के बैठने एवं पेयजल की उचित व्यवस्था रहे। इस अवसर पर खुर्शीद आलम, नीरज प्रजापति, आलोक यादव, प्रियंका पटेल, तनीमा यादव सहित अन्य स्टाफ उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जफराबाद विधायक को हार्ट अटैक फस्टेड के बाद, मेदान्ता के लिए रेफर

जफराबाद विधायक का खतरे से बाहर डाॅ गणेश सेठ का सफल प्रयास, लगा पेस मेकर

योगी सरकार ने यूपी में आज फिर 12 आईएएस का तबादला, देखे सूची