डूबने से नहीं, गला दबाकर की गई थी सैलून संचालक की हत्या



जौनपुर। लखनीपुर निवासी सैलून संचालक 22 वर्षीय आनंद शर्मा की मौत तालाब में डूबने से नहीं, बल्कि उसकी गला दबाकर हत्या की गई थी। पीएम रिपोर्ट में इसका राज खुलने के बाद पुलिस ने जांच तेज कर दी है। दावा है कि हत्या में शामिल आरोपितों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
आठ अगस्त को आनंद सुल्तानपुर जिले के विजेथुआ महावीर धाम परिसर में चार साथियों संग दर्शन करने गए थे, जहां रात में संदिग्ध हाल में डूबने से उसकी मौत होने की बात कही गई। आनंद के पिता रामराज ने इस मामले में चार को आरोपित बनाते हुए तहरीर दी है। मामला दो जिले का होने की वजह से पुलिस अभी तक मुकदमा दर्ज नहीं कर सकी है। पिता का कहना है कि आनंद शर्मा बदलापुर के चंदापुर बाजार में सैलून चलाते थे। बाजार में ही अस्पताल चलाने वाले एक डाक्टर से आनंद शर्मा की दोस्ती थी। डाक्टर मित्र के साथ अलग-अलग गांवों के तीन युवक भी विजेथुआ महावीर धाम दर्शन करने गए थे। बताया गया कि वहां आधी रात में तालाब में स्नान कर रहे आनंद शर्मा की संदिग्ध हाल में डूबने से मौत हो गई। मंदिर परिसर में मौजूद पुलिसकर्मियों ने शव तालाब से निकाला। उपचार कराने की बात करते हुए उसे वाहन से लेकर सभी सीएचसी बदलापुर गए। डाक्टरों के मृत घोषित करने पर शव अस्पताल में छोड़कर सभी भाग गए थे। पीएम रिपोर्ट में स्पष्ट हुआ कि गला दबाकर हत्या करने के बाद आनंद को तालाब में फेंका गया था।
राणा प्रताप यादव, प्रभारी निरीक्षक, खुटहन के अनुसार घटनास्थल सुल्तानपुर सूरापुर थाना का है। शव की बरामदगी बदलापुर सीएससी व मृतक के पिता द्वारा तहरीर खुटहन थाने पर दी गई है। मामला अलग जिला के साथ ही दो थानों के बीच का भी है। घटना की गंभीरता को देखते हुए जांच के दायरे को बढ़ा दिया गया है। वारदात में शामिल आरोपित जल्द गिरफ्तार होंगे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मेदांता में इलाज करा रहे इस आईएएस अधिकारी का हुआ निधन

जौनपुर में फिर तड़तड़ायी गोलियां एक युवक गम्भीर रूप से घायल बदमाश फरार, पुलिस अंधेरे में चला रही छानबीन की तीर

थाना चन्दवक की वसूली लिस्ट वायरल होने पर एक बार फिर सुर्खियों में पुलिस जांच शुरू