डेंगू संक्रमण को लेकर समीक्षा बैठक, डीएम ने सभी जिम्मेदारो की कसी पेंच, उपचार की व्यवस्था चुस्त करने का दिया निर्देश


जौनपुर। जनपद में फैल रहे डेंगू एवं अन्य संचारी रोगो को लेकर समीक्षा बैठक करते हुए जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा ने मरीजो के उपचार, कारण और निदान की चर्चा करते हुए कहा कि जनपद के समस्त प्रभारी चिकित्सा अधिकारी एवं अधीक्षक फीवर हेल्प डेस्क को क्रियाशील कराएं तथा प्रतिदिन बुखार के रोगियों की सूचना जिला मुख्यालय को दें।
उन्होंने निर्देश दिया कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी सूचनाएं संकलित कर रिपोर्ट प्रेषित करें। सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर डेंगू के जो भी संभावित रोगी आते हैं उनकी सूचना संबंधित एडीओ पंचायत एवं अधिशासी अधिकारी नगरी निकाय को उपलब्ध कराएं, जिससे वे प्रभावित क्षेत्र में तत्काल निरोधात्मक कार्यवाही सुनिश्चित करायें।  


बैठक में मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को निर्देशित किया गया कि जनपद के सभी क्षेत्रों से रोगी आते हैं, इसलिए प्रतिदिन के डेंगू रोगियों का विवरण सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र वार छांट कर संबंधित अधीक्षक एवं प्रभारी चिकित्सा अधिकारी को अवगत कराएं ताकि उनके स्तर से निरोधात्मक कार्यवाही सुनिश्चित करायी जा सके।
डेंगू से मृत्यु की अफवाह वाली खबरों का डेथ ऑडिट करा कर वास्तविक स्थिति से अवगत कराया जाये। जिला पंचायत राज अधिकारी को ऐसे स्थानों पर जहां परंपरागत छठ की पूजा की जाती है वहां साफ सफाई छिड़काव एवं फागिंग की व्यवस्था सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये। जिला चिकित्सालय के चिकित्सा अधीक्षक को पूर्व में प्राप्त हुई ब्लड सेपरेटर यूनिट के क्रियाशील कराने को निर्देशित किया।
समस्त अधिशासी अधिकारी नगर पालिका एवं नगर पंचायत को निर्देशित किया कि डेंगू की स्थिति सामान्य होने तक नालियों में छिड़काव, फागिंग, जन जागरूकता एवं साफ-सफाई जारी रखें। मुख्य चिकित्सा अधिकारी को जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि डेंगू के विभिन्न प्रकारों के उपचार एवं सावधानी के बारे में आम जनमानस को सामान्य जानकारी नियमित जाये।


मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा बताया गया कि डेंगू के बुखार कुछ ऐसे होते हैं जिनमें सिर्फ सामान्य पेरासिटामोल खाकर एवं शरीर को अच्छी तरह से हाइड्रेट कर ठीक किया जा सकता है। इसमें कुछ ही प्रतिशत रोगी ऐसे होते हैं जिन्हें चिकित्सालय एवं चिकित्सक की देख-रेख में इलाज उपचार की आवश्यकता होती है। उन्होंने कहा कि सन्तुलित भोजन, स्वच्छ पानी का प्रयोग करते हुए शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बनाये रखे, जिससे डेगू के प्रभाव से बचा जा सके।
 इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी साई तेजा सीलम, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0 लक्ष्मी सिंह, पीडी जयकेश त्रिपाठी, जिला विकास अधिकारी बी.बी सिंह, जिला पंचायत राज अधिकारी संतोष कुमार सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुलिस मुठभेड़ में मारे गए बदमाशो का शव उनके पिता ने लेने से किया इनकार जानें कारण

गुरूजी को अपनी छात्रा से लगा प्रेम रोग तो अब पहुंच गए सलाखों के पीछे,थाने में हुआ एफआइआर दर्ज

पुलिस मुठभेड़ में दो सगे भाई बदमाश मारे गये एक फरार जिसकी तलाश जारी है