पीएनबी का घोटालेबाज कैशियर निलंबित, जांच में जुटी विशेष टीम,एक करोड़ से अधिक के घोटाले की सम्भावना



जौनपुर। जनपद के पंजाब नेशनल बैंक की खेतासराय शाखा में लगभग एक करोड़ से अधिक रूपये का बड़ा घोटाला सामने आया है। बैंक का कैशियर राकेश कुमार दूसरों के खाते से रुपये निकालकर एक परिचित युवती के खाते में भेज देता था और बाद में रकम निकाल लेता था। सूत्र के मुताबिक करीब 1.60 करोड़ रुपये का घोटाला हुआ है। बैंक प्रबंधन ने आरोपित कैशियर को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर छानबीन के लिए विशेष टीम गठित कर दी है।
बैंक के जिम्मेदार अधिकारी घोटाले की बात तो स्वीकार तो कर रहे हैं, लेकिन कितनी राशि का गबन हुआ, इसकी पुष्टि नहीं कर रहे हैं। घोटाले के आरोप में निलंबित कैशियर राकेश कुमार पूर्व में खेतासराय में ही ओरियंटल बैंक आफ कामर्स की शाखा में कार्यरत था।


ओरियंटल बैंक आफ कामर्स के पंजाब नेशनल बैंक में विलय के बाद वहीं तैनात रहा। आरोप है कि विलय से पूर्व से ही वह खाताधारकों द्वारा दूसरे को किए गए भुगतान को अपनी एक परिचित युवती के खाते में ट्रांसफर कर देता था। युवती से अधिकतर रुपये निकलवाकर खुद ले लेता था और कुछ युवती के खाते में छोड़ देता था।

पंजाब नेशनल बैंक वाराणासी मंडल प्रमुख राजेश कुमार का कहना है कि गड़बड़ी हुई है, लेकिन 1.60 करोड़ की नहीं। छानबीन के लिए विशेष टीम गठित की गई है। जांच पूरी होने के बाद ही घोटाले की राशि स्पष्ट हो सकेगी। आरोपित कैशियर को निलंबित कर दिया गया है।


करीब एक सप्ताह पूर्व एक पीड़ित खाताधारक की शिकायत पर मामला सामने आया। बैंक ने गुपचुप छानबीन शुरू कराई। बड़ा घोटाला सामने आने पर उच्चाधिकारियों को जानकारी दी। उच्चाधिकारियों ने तत्काल प्रभाव से कैशियर राकेश कुमार को निलंबित कर प्रकरण की छानबीन के लिए विशेष टीम गठित कर दी। टीम तीन-चार दिन से लगातार बैंक में अभिलेखों की छानबीन कर रही है।

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर में चुनावी तापमान बढ़ाने आ रहे है सपा भाजपा और बसपा के ये नेतागण, जाने सभी का कार्यक्रम

अटाला मस्जिद का मुद्दा भी अब पहुंचा न्यायालय की चौखट पर,अटाला माता का मन्दिर बताते हुए परिवाद हुआ दाखिल

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?