जी-20 और ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट को लेकर शहरो को सुंदर बनाने के लिए सभी निकाय करें बेहतर कार्य - नगर विकास मंत्री


लखनऊ। प्रदेश के नगर विकास एवं ऊर्जा मंत्री ए0के0 शर्मा ने सभी निकाय अधिकारियों को सख्त निर्देश देते हुए कहा है कि सभी निकाय अपने यहां दैनिक साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दें और प्रातः 8ः00 बजे तक हर हाल में सफाई हो जानी चाहिए। उन्होंने कहा  कि प्रदेश में प्रधानमंत्री जी एवं मुख्यमंत्री के नेतृत्व में जी-20 एवं ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन होने जा रहा है। हमारे प्रदेश की वैश्विक स्तर पर एक अच्छी छवि बने, इसके लिए सभी शहरों में विशेष साफ-सफाई, सुंदरीकरण और व्यवस्थापन के कार्य किए जाने हैं। नगरीय जीवन शैली एवं सुविधाएं वैश्विक स्तर की हों। इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता एवं लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी, जिस किसी भी निकाय में कार्यों के प्रति शिथिलता पाई जाएगी, वहा के अधिकारियो के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।
नगर विकास मंत्री श्री शर्मा ने गत दिवस जल निगम के फील्ड हॉस्टल ’संगम’ में सभी निकायों में व्यवस्थापन, साफ़ सफाई, सुंदरीकरण के कार्यों की देर रात वर्चुअल समीक्षा की। उन्होंने कहा कि आगामी माह में प्रदेश के आगरा, लखनऊ, वाराणसी व ग्रेटर नोएडा में जी-20 की बैठके आयोजित होने जा रही हैं! इन बैठकों में विश्व के समृद्ध देशों के शासक, प्रशासक व उद्योगपति शामिल होगे। इसलिए इन चारों शहरों और इनके आसपास के शहरों को भी वैश्विक स्तर का बनाना है। यहां की व्यवस्था उच्च कोटि की होनी चाहिए। इन शहरों के साथ सभी निकायों में ऐतिहासिक स्थलों, स्मारकों, प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों एवं खास पहचान वाले बाजारों की विशेष साफ-सफाई, सुंदरीकरण का कार्य कराया जाए। विदेशी मेहमान ऐसे स्थानों पर घूमने के लिए, खरीददारी करने जा सकते हैं। चौराहों का सुंदरीकरण कर,उनका नामकरण किया जाए। शहरों की एयर क्वालिटी बढ़ाने और धूल-धुवा कम करने के लिये हरियाली बढ़ाई जाए, पानी का छिड़काव किया जाए। अवैध होर्डिंग, तारों के मकड़जाल को हटाया जाए। साथ ही जनकारी के लिए डिजिटल डिस्प्ले भी कराया जाएं। मार्गों की जानकारी के लिए शाईनेज लगाएं जाए, जिससे आने-जाने में किसी को परेशानी न हो। शौचालयों की साफ़ सफाई व्यवस्था को सुचारू बनाये। शहरों को सुन्दर और व्यवस्थित बनाने के लिए गणमान्य नागरिको और स्वयं सेवी संगठनो से भी सहयोग व उनके सुझाव लिए जाय।
श्री शर्मा ने कहा कि नगरों को सुंदर बनाने और व्यवस्थित करने के लिए 01 जनवरी से 100 दिवसीय यूपी जी सिटीज अभियान तथा स्वच्छ ढाबा अभियान, स्वच्छ माघ मेला अभियान चलाया जा रहा है। ऐतिहासिक स्थलों, स्मारकों के सुंदरीकरण, साफ-सफाई के लिए 14 जनवरी से स्वच्छ विरासत अभियान चलाया जा रहा है। इन सभी कार्यों में कहीं पर कोई शिथिलता न हो, कार्यों की बेहतर मॉनिटरिंग के लिए सभी निकायों द्वारा अपने यहां सेल का संचालन करे। उन्होंने प्रमुख सचिव नगर विकास तथा निदेशक नगरीय निकाय को भी इन कार्यों की नियमित मॉनिटरिंग करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि साफ सफाई के प्रति लोगों को जागरूक करें और गंदगी फैलाने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई भी करें। कार्यों को व्यवस्थित व स्थायित्व प्रदान करने के लिए जनभागीदारी बढ़ाए। भीड़-भाड़ वाले, बाजारों की दिन में दो से तीन बार सफ़ाई कराए। दुकानों, चाय, चाट, नाश्ता, खाना देने वाले ठेलो, मैग्गी प्वाइंट के पास उनसे डस्टबिन जरुर रखवाए, जिससे कूड़ा इधर-उधर न बिखरे। शहरों में कहीं पर भी कूड़ा स्थल न दिखे। डोर टू डोर कूड़ा उठान पर विशेष ध्यान दें। घर से ही सूखे और गीले कचरे का सेग्रीग्रेशन कराएं। सड़कों, गलियों के साथ फुटपाथों और इनके किनारो की जमीन को भी साफ व व्यवस्थित करना है। 
श्री शर्मा ने कहा कि 3 आर (रिड्यूस, रियूज, रिसाइकल) के सिद्धान्त को अपनाकर सभी शहरों को कचरामुक्त बनाना है। फिर से कोई गार्वेज वर्नेबल प्वाइंट विकसित न होने पाये। सूखे और गीले कचरे के लिए हरे और नीले रंग के कूड़ेदानों का प्रयोग कराएं। सभी क्षतिग्रस्त मार्गों का मरम्मत समय से पूर्ण कराया जाय। पार्कों, उद्यानों का सौन्दर्यीकरण कराया जाय। शहर के मुख्य स्थलों पर वर्टिकल गार्डेन भी लगाये जाएं। शहर के मुख्य स्थलों पर विभिन्न थीमों पर वॉल पेंटिंग, वॉल म्युरल्स का कार्य कराया जाय। शहर में होर्डिंग स्थलों का चिन्हांकन कर इन्हें व्यवस्थित रूप से लगाया जाय। डिजिटल होर्डिंग भी लगायी जाय। सभी निकायों में स्ट्रीट लाइट्स का बेहतर रख-रखाव कराया जाय तथा चौराहों, पार्कों में स्थापित महापुरूषों, सेनानियों, प्रसिद्ध व्यक्तियों की मूर्तियों की साफ-सफाई भी सुनिश्चित करायी जाय। उन्होंने कहा कि सभी निकाय कार्यों के सुधार में एक-दूसरे से परामर्श भी लें और एक-दूसरे से श्रेष्ठ कार्य करने की भावना भी हो। उन्होंने सभी धार्मिक स्थलों से निकलने वाले पूजन सामग्री से उपयोगी सामग्री बनाने को भी कहा।
प्रमुख सचिव नगर विकास अमृत अभिजात ने कहा कि ढाबों पर साफ़ सफाई, शौचालयों, लाइटिंग, डस्टबिन, पानी की निकासी व प्रयोग, हरियाली की समुचित व्यवस्था हो। सभी निकायों में 1671 ढाबों को चिन्हित किया गया है, जो कि कम है। इसे बढ़ाना है। ढाबों का श्रेणीवार लिस्ट भी बनाई जाए, जिससे कि रैंकिंग के आधार पर ढाबों को पुरस्कृत करना आसान हो सके। उन्होंने कहा कि जी-20 की बैठकों वाले चार शहरों में 21 जनवरी को रन फॉर जी-20 का आयोजन किया जाना है। इसमें मैराथन दौड़, वाकाथन आदि कार्यक्रम कराये जाएंगे। इसके लिए अभी से पूर्ण तैयारी कर ली जाय। सभी सम्बंधित विभागों का सहयोग इसमें लिया जाय। बैठक में शासन के विभागीय अधिकारी, सभी नगर आयुक्त एवं निकायों के अधिशासी अधिकारी वर्चुअली जुड़े रहें।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मेदांता में इलाज करा रहे इस आईएएस अधिकारी का हुआ निधन

जौनपुर में फिर तड़तड़ायी गोलियां एक युवक गम्भीर रूप से घायल बदमाश फरार, पुलिस अंधेरे में चला रही छानबीन की तीर

थाना चन्दवक की वसूली लिस्ट वायरल होने पर एक बार फिर सुर्खियों में पुलिस जांच शुरू