जौनपुर में पीएम श्री योजना के तहत जानें कैसे सुधरने वाली है इन 42 विद्यालयो की दशा और दिशा


जौनपुर। परिषदीय प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों की दशा और दिशा सुधारने के लिए केंद्र सरकार ने पीएम श्री योजना की शुरूआत की है। इसके तहत जिले के 42 स्कूलों का चयन किया गया है। इनमें परिषदीय प्राथमिक, उच्च प्राथमिक एवं कंपोजिट विद्यालय शामिल हैं। इन स्कूलों में केंद्र सरकार की योजनाओं का क्रियान्वयन प्राथमिकता के आधार पर कराया जाएगा।
शिक्षा विभाग से मिली जानकारी के अनुसार पीएम श्री योजना के तहत स्कूलों को आर्थिक मदद करके उनकी स्थिति में पहले से और ज्यादा सुधार किया जाएगा। इसके तहत मूलभूत सुविधाओं के विकास और एकेडमिक सपोर्ट पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। बीएसए डॉ. गोरखनाथ पटेल ने बताया कि योजना के तहत चयन के लिए प्रत्येक ब्लाॅक से चार-चार स्कूलों के नाम मांगे गए थे। उनमें से कुछ विद्यालयों को चिह्नित करके राज्य सरकार की तरफ से सूची केंद्र को भेजी गई। वहां से इन विद्यालयों के नाम पर मुहर लगी है।
उन्होंने बताया कि परिषदीय स्कूलों में बेहतर पठन-पाठन का इंतजाम करने, अच्छा माहौल देने, बच्चों के ठहराव के लिए यह पहल काफी कारगर साबित होगी। पीएम श्री योजना के तहत जिले के 42 स्कूलों का चयन किया गया है।
इन विद्यालयों का किया गया है चयन
जौनपुर। पीएम श्री योजना के तहत जिले के 42 विद्यालयों का चयन किया गया है। चयनित विद्यालयों में कंपोजिट विद्यालय शाहपुर सानी, माया नदीपुर, दरियावगंज, आदमपुर, असवान, विथार, अमरौना, बेगरवां, ओवार, रामपुर सारी, कोठवार, हंकारीपुर, घुड़दौड़, बारनपुर, अंगुली, मिर्जापुर, कोदहां, सीतापुर, मुकुंदपुर, कदहरां, सटवां, मड़वा दोदक, नेवादा, खेतापुर, नूरपुर, भानपुर, अर्जुनपुर, इब्राहिमाबाद, नाथूपुर, लखौंआ, कोहड़ा, रामपुर, दारुनपुर, प्राथमिक विद्यालय मुरादपुर कोटिला, समोधपुर कला, डेडूवाना, दालुपुर, सुंगलपुर, सुरैला, चकताली, बेरमाव शामिल हैं।

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर में चुनावी तापमान बढ़ाने आ रहे है सपा भाजपा और बसपा के ये नेतागण, जाने सभी का कार्यक्रम

अटाला मस्जिद का मुद्दा भी अब पहुंचा न्यायालय की चौखट पर,अटाला माता का मन्दिर बताते हुए परिवाद हुआ दाखिल

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?