संचारी रोग नियंत्रण की बैठक में डीएम ने दिया यह शख्त निर्देश


जौनपुर। जिलाधिकारी अनुज कुमार झा की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में संचारी रोग नियंत्रण की प्रथम जनपद स्तरीय अंतर विभागीय बैठक संपन्न हुई। जिलाधिकारी ने बताया कि विशेष संचारी रोग नियंत्रण व दस्तक अभियान का 01 अप्रैल से 30 अप्रैल तक चलाया जाएगा। वहीं दस्तक अभियान 17 अप्रैल से 30 अप्रैल तक चलाया जाना है, जिसमें स्वास्थ्य नगर विकास पंचायती राज, पशुपालन, बाल विकास, शिक्षा चिकित्सा, दिव्यांग, जन सशक्तिकरण, कृषि एवं सिंचाई सूचना विभाग, उद्यान विभाग रोग नियंत्रण हेतु संयुक्त रूप से कार्य करेंगे। भीड़भाड़ वाले स्थानों पर जनमानस के लिए शुद्ध पेयजल की व्यवस्था की जाएगी। बुखार के रोगियों की तलाश की जाएगी तथा नगर व क्षेत्र में साफ-सफाई की व्यवस्था होगी।
 जिलाधिकारी ने नगर पालिका/नगर पंचायत और पंचायती राज विभाग को निर्देशित किया कि शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में व्यापक साफ-सफाई रखी जाए ताकि कहीं भी जलभराव के कारण मच्छरजनित परिस्थितियां उत्पन्न न होने पाएं। उन्होंने सभी विभागों को निर्देशित किया कि निर्धारित गतिविधियों को समय से संपादित करें।जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि नालियों की सफाई, जल-जमाव हटाये एवं एंटी लार्वा का छिड़काव कराये।
बीएसए को निर्देश दिया कि विद्यालयो में जागरूकता के कार्यक्रम कराये जाए, बच्चो से निबंध लिखवाया जाएं और प्रमाण-पत्र वितरण किया जाए और  निर्देशित किया कि ब्लॉक स्तरीय ग्राम प्रधान एवं ग्राम विकास अधिकारी बैठक कर ब्लॉकवार योजना बनाते हुए 23 से 26 मार्च 2023 के मध्य  कार्य संपादित कर ले जिसमें ग्राम प्रधान की उपस्थिति शत-प्रतिशत सुनिश्चित की जाए।
बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर लक्ष्मी सिंह ने बताया कि दस्तक अभियान में आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता घर-घर जाकर बुखार के मरीजों, इंफ्लुएंजा लाइक इलनेस के रोगियों, क्षय रोग के लक्षणयुक्त व्यक्तियों एवं कुपोषित बच्चों की सूची बनाएंगी। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी साईं तेजा सीलम, जिला मलेरिया अधिकारी बी0पी0 सिंह सहित समस्त एवं अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Comments

Popular posts from this blog

भीषण दुर्घटना एक परिवार के आठ सदस्यो की दर्दनाक मौत, पुलिस ने किया विधिक कार्यवाई, इलाके में कोहराम

जौनपुरिया दूल्हा स्टेज पर पिया गांजा तो दुल्हन ने किया शादी से इन्कार,पुलिसिया हस्तक्षेप के बाद बगैर दुल्हन के लौटे बाराती

एक लाख रुपए घूस लेते हुए लेखपाल चढ़ा एन्टी करप्शन टीम के हाथ पहुंच गया सलाखों के पीछे जेल