बेसिक शिक्षा के सभी विद्यालयों में छात्रहित के दृष्टिगत अभिभावको की बैठक अनिवार्य रूप से की जाए- गिरीश चन्द यादव


जौनपुर। शिक्षा सत्र 2023-24 में बेसिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को ड्रेस, स्वेटर, स्कूल बैग, जूता-मोजा एवं स्टेशनरी क्रय हेतु प्रति छात्र-छात्रा को रु0 1,200 की धनराशि को उनके माता/पिता/अभिभावक के बैंक खाते में डीबीटी के माध्यम से अंतरण प्रक्रिया का शुभारंभ  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा किया गया।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा डीबीटी के माध्यम से यह धनराशि अभिभावकों के खाते में भेजी गई। इसी क्रम में कार्यक्रम का सजीव प्रसारण जनपद के कलेक्ट्रेट स्थित सभागार में राज्यमंत्री खेल एवं युवा कल्याण उत्तर प्रदेश शासन गिरीश चन्द यादव, मुख्य विकास अधिकारी, साईं तेजा सीलम, बेसिक शिक्षा अधिकारी डॉक्टर गोरखनाथ पटेल की उपस्थिति में छात्रों एवं उनके अभिभावकों ने  देखा।  
राज्यमंत्री ने प्राथमिक विद्यालय के बच्चों को स्कूल बैग सहित अन्य स्टेशनरी के सामान वितरित किए। राज्यमंत्री श्री यादव ने कहा कि प्रदेश सरकार के द्वारा पहली बार इतने बड़े पैमाने पर पारदर्शी तरीके से पैसे अभिभावकों के खाते में भेजा जा रहा हैं। जनपद के विद्यालयों में आने वाले परिवर्तन में शिक्षकों का विशेष योगदान है। उन्होंने सभी अभिभावकों से अपील की है कि भेजे गए पैसों से ड्रेस,जूता मोजा खरीद कर अपने बच्चों पहना कर विद्यालय भेजें। उन्होंने कहा कि अभिभावकों की भी नैतिक जिम्मेदारी होती है कि उनके बच्चे अच्छे से विद्यालय आए। मंत्री श्री यादव ने कहा कि सभी विद्यालयों में अभिभावक बैठक अनिवार्य रूप से की जाए। अभिभावक बैठक में उन्हें प्रोत्साहित किया जाए और उनके बच्चों के बारे में अच्छी बातें और कमियों को बताएं जिससे उनमें सुधार लाया जा सके और प्रोत्साहित किया जा सके। मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ऑपरेशन कायाकल्प से विद्यालयों का जीर्णोद्धार करते हुए शौचालय, पेयजल की समुचित व्यवस्था की गई है। उन्होंने शिक्षकों से अपील किया कि पुरातन छात्रों से समन्वय कर विद्यालय में आवश्यक कार्य कराये।
राज्यमंत्री ने कहा कि परिषदीय विद्यालय के बच्चे कॉन्वेंट विद्यालयों से अच्छे साबित होंगे। राज्यमंत्री ने कहा कि खेल नीति के तहत सभी विद्यालयों में 40 मिनट के खेल अनिवार्य किए गए हैं, बच्चों के अंदर प्रतिस्पर्धा की भावना खेल के माध्यम से जागृत किए जाए, जिससे बच्चों में बौद्धिक क्षमता के साथ-साथ शारीरिक क्षमता का भी विकास हो और बच्चे बीमारियों से दूर रह रहे। सभी शिक्षकों से अपील किया कि सकारात्मक दृष्टिकोण अपनाते हुए शिक्षण का कार्य करें, बच्चों को अपने बच्चों की तरह अनुशासन के साथ-साथ देखभाल और पढ़ाने का कार्य करें।
 राज्यमंत्री द्वारा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी को धन्यवाद ज्ञापित किया गया। मुख्य विकास अधिकारी साईं सीलम तेजा ने आए हुए छात्रों एवं अभिभावकों का धन्यवाद ज्ञापित किया और कहा कि परिषदीय विद्यालयों में परिवर्तन लाने के लिए जिला प्रशासन पूरी तरह से कटिबद्ध है और सभी प्रकार से सहयोग किया जा रहा है।
जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डॉ0 गोरखनाथ पटेल ने बताया कि जनपद में कुल दो लाख 85 हजार 3 सौ 3 बच्चों को कुल 34 करोड़ 23 लाख 63 हजार 6 सौ रुपये डीबीटी के माध्यम से रु 1200 प्रति छात्र के अभिभावक के खाते में भेजा गया है।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी की मंशा के अनुरूप जनपद में शिक्षा के क्षेत्र में व्यापक बदलाव किए जा रहे हैं। जनपद में परिषदीय विद्यालयों के बच्चे बहुत ही प्रतिभावान है उनकी प्रतिभा को सभी क्षेत्रों में निखारने का प्रयास किया जा रहा है।इस अवसर पर परिषदीय विद्यालय के छात्र अभिभावक व बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारी व कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

Comments

Popular posts from this blog

हाईकोर्ट का शख्त आदेश एसपी जौनपुर एवं एसएचओ झूंसी लापता महिला को कोर्ट में करे हाजिर,जानें क्या है मामला

कांवड़ यात्रियों के लिए मुख्यमंत्री का शख्त आदेश, तो अखिलेश, मायावती का शख्त विरोध, जानें क्या है आदेश

पैतृक सम्पत्तियों को विवाद मुक्त करने के लिए जानिए क्या व्यवस्था कर रही है यूपी सरकार, नहीं लगाने होंगे तहसील के चक्कर