जौनपुर के आशिर्वाद हास्पिटल में आईबीएफ लैब के जरिए टेस्ट वेवी का सफलतापूर्वक हुआ जन्म, जानिए डाॅ अन्जू का क्या है दावा



जौनपुर। जनपद स्थित आशिर्वाद हास्पिटल में नवरात्र के पावन अवसर से आईबीएफ लैब के जरिए टेस्ट वेवी से बच्चे का सफल जन्म कराके निःसंतान दम्पत्तियों को मातृ सुख प्रदान करने का काम गायनिक चिकित्सक डाॅ अन्जू कनौजिया के चिकित्सकीय परीक्षण से शुरू हो गया है। टास्टे वेवी सेन्टर (आईबीएफ लैब) का आगाज बुधवार 25 अक्टूबर को आशिर्वाद अस्पताल की चिकित्सक ने पूरी टीम के साथ जन्म दिवस सक्सेज पार्टी करते हुए मीडिया से रूबरू होकर इस आईबीएफ लैब के संदर्भ में जानकारिया दी है।
मीडिया से रूबरू होते हुए महिला चिकित्सक डाॅ अन्जू कनौजिया ने बताया कि इस सेंटर की शुरूआत विगत नौ माह पहले से किया गया था और टेस्ट वेवी के लिए रिसर्च शुरू कर दिया गया था। मरीजो के जरिए इसका प्रचार प्रसार हुआ कई ऐसे दम्पति आये जो निःसंतान रहे उनका टेस्ट शुरू कर दिया गया था। उसी में पहले दो दम्पत्तियों को नवरात्र के छठवें और आठवें दिना सफलता के साथ दो बच्चियों का जन्म हुआ जिनका नाम मां दुर्गा के नाम पर गौरी और पार्वती रखा गया। दोनो बच्चियों का सफल जन्म कराने के बाद आशिर्वाद हास्पिटल की टीम ने टेस्ट वेवी जन्म दिवस सक्सेज पार्टी मनाने का निर्णय लिया था।
डाॅ अन्जू ने बताया के यह सेंटर अब जनपद ही आसपास के जिलो के उन सभी दम्पत्तियों को मातृत्व का सुख प्रदान कराने में सहायक होगा जो एक अदद बच्चे के लिए परेशान है।इस कार्य के लिए अस्पताल के पास एक पूर्ण सुविधाओ से लैस लैब है जिसके जरिए सफलता पूर्वक वेवी का जन्म कराया जा सकता है। डाॅ अन्जू ने यह भी कहा कि महानगरो की अपेक्षा यहां कम खर्चे में दम्पत्ति  अपने मातृत्व की मनो कामना पूरी कर सकते है।
डाॅ अन्जू ने बताया कि जनपद जौनपुर में अभी तक का पहला टेस्ट वेवी सेंटर (आईबीएफ लैब) आशिर्वाद अस्पताल में खुला है।जो अस्पताल के इतिहास में एक नया अध्याय होगा। डाॅ ने दावा किया कि इस सफलता के पश्चात अब जनपद सहित पूर्वांचल के ऐसे दम्पत्तियों को कहीं भी भटकना नहीं पड़ेगा और मातृत्व सुख प्रदान कराया जायेगा। इस अवसर पर आशिर्वाद हास्पिटल के वरिष्ठ चिकित्सक डाॅ विनोद कुमार कनौजिया सहित हास्पिटल की पूरी टीम मौजूद रही। 

Comments

Popular posts from this blog

जौनपुर में चुनावी तापमान बढ़ाने आ रहे है सपा भाजपा और बसपा के ये नेतागण, जाने सभी का कार्यक्रम

अटाला मस्जिद का मुद्दा भी अब पहुंचा न्यायालय की चौखट पर,अटाला माता का मन्दिर बताते हुए परिवाद हुआ दाखिल

मछलीशहर (सु) लोकसभा में सवर्ण मतदाताओ की नाराजगी भाजपा के लिए बनी बड़ी समस्या,क्या होगा परिणाम?