खेतासराय की घटना बनी सियासत का अखाड़ा,प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सपा नेता का हमला


जौनपुर। जनपद के थाना खेतासराय क्षेत्र स्थित बभनौटी वार्ड निवासी दो युवको अजय और अंकित पुत्र फूलचंद प्रजापति की हत्या की घटना को लेकर राजनैतिक दलो द्वारा लाश पर सियासी जंग शुरू कर दी गई है। घटना के बाद सपा और सत्तारूढ़ दल के नेता शोक संवेदना व्यक्त करने के नाम पर मृतक के घर पहुंचकर अपनी राजनीति को चमकाने के प्रयास में नजर आ रहे है।
घटना के बाद सपा के स्थानीय नेताओ के सरकार के मंत्री स्वतंत्र प्रभार गिरीश चन्द यादव फिर प्रजापति समाज के कारागार मंत्री मृतको घर पहुंचे अब मंगलवार को सपा नेता पूर्व एमएलसी दयाराम प्रजापति एक प्रतिनिधिमंडल के साथ खेतासराय के बभनौटी वार्ड निवासी फूलचंद प्रजापति के आवास पर पहुंचे। 
जिसमें मुख्य रूप पूर्व एमएलसी दयाराम प्रजापति ,अरशद खान डां अवधनाथ पाल,दिनेश प्रजापति, हरवीर सिंह, वीरेन्द्र यादव, डां रामगोविंद प्रजापति, दिलीप प्रजापति,के साथ जिले के वरिष्ठ नेता गण प्रतिनिधिमंडल में शामिल रहे।
इस दौरान मृतक परिवार के मुखिया फूलचंद प्रजापति, उनकी पत्नी मनभावती देवी और बेटी विनीता से मुलाकात करके हर संभव सहयोग का भरोसा दिलाया। 
पूर्व एमएलसी दयाराम प्रजापति ने कहा पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के निर्देश पर में हम सभी यहां आये हैं घटना की पूरी जानकारी अखिलेश यादव दिया जायेगा और अपराधियों को कठोर से कठोर सजा मिले इसके लिए पूरा समाजवादी परिवार मृतक परिवार के साथ खड़ा रहेगा। कहा आप को किसी से डरने की जरूरी नहीं हैं ।
इस घटना के बहाने सरकार पर हमला बोला कहा जब से प्रदेश में भाजपा सरकार बनी है।
अपराधी बेलगाम हो गए हैं उनको अपराध करते समय किसी प्रकार का भय नहीं रहता। 
खेतासराय कस्बे में पुलिस बूथ के एकदम निकट घटित हुई यह धटना उसका जीता जागता उदाहरण है ।उन्होंने मांग किया  कि भाजपा सरकार इस मृतक के परिवार को 50 लाख की सहायता राशि मुख्यमंत्री राहत कोष से देने की कृपा करें। 
कहा मृतक परिवार में एक बेटी बची जो बूढ़े माता पिता का देखभाल करेंगी। उसे भाजपा सरकार पक्की नौकरी दें। जिससे उनका जीवन यापन चल सकें। मुख्य रूप से पूर्व एमएलसी लल्लन प्रसाद यादव,चेयरमैन वसीम अहमद,अंखड प्रताप यादव, हिसामुद्दीन शाह, राहुल त्रिपाठी, पूनम मौर्या , इर्शाद मंसूरी, अजमत अली,अजय विश्कर्मा, अनिल दूबे,नासिर खान,जयप्रकाश यादव, ऋषि यादव, त्रिदेव यादव,अमित सोनकर, रामसूरत प्रजापति इंतखाब आलम अन्य मौजूद रहे।।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

एंटी करप्शन टीम के हत्थे चढ़ा चपरासी ढाई लाख रुपए घूस ले रहा था चपरासी सहित एसीओ के खिलाफ मुकदमा दर्ज

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद