जिला पंचायत अब डीएम के जरिए अपनी दुकानो को करियेगी खाली, बनेगी टीम


जौनपुर। जिला पंचायत बोर्ड की बैठक अनुपम कालोनी स्थित कैंप कार्यालय में किया गया। सदस्यो द्वारा विकास कार्यों के प्रस्ताव को देखते हुए 135 करोड़ का बजट पास किया गया। बोर्ड बैठक में विभिन्न विभागों के हस्ताक्षर कर गायब होने वाले अधिकारियों से स्पष्टीकरण मांगने का मांग रखी गई, जिसपर सहमति दी गई।
बैठक दोपहर तीन बजे जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीकला धनंजय सिंह की अध्यक्षता में शुरू हुई। इसमें अधिशासी अभियंता प्रथम हारून द्वारा अध्यक्ष व एमएलसी बृजेश सिंह, ब्लॉक प्रमुख का स्वागत किया गया। इसमें मड़ियाहूं में राजकीय बालिका इंटर कालेज को दो एकड़ 24 डिसमिल हस्तांतरित व उसका मुआवजा जिला पंचायत को दिए जाने पर विचार किया गया। जिला पंचायत के पुरानेे-जीर्ण शीर्ण सभागार एवं उससे जुड़ी जमीनों पर नवीन व्यावसायिक कांपलेक्स व मीटिंग हाल के निर्माण पर पुनः सर्वसम्मति से अनुमोदन किया गया। जिला पंचायत अध्यक्ष ने क्षेत्र की समस्या को लिखित रूप से अवगत कराए जाने की मांग की, जिस पर उचित कार्यवाही किए जाने का आश्वासन आश्वासन दिया गया। सदस्य बाघ सिंह चौहान व रामनाथ ने बताया कि जिला पंचायत द्वारा सड़कों के निर्माण कार्यों पर ठेकेदार द्वारा साइन बोर्ड की गुणवत्ता खराब है, जिसमें सुधार लाया जाए। ब्लाक प्रमुख मुंगराबादशाहपुर सत्येंद्र सिंह ने जिला योजना समिति में जिला पंचायत सदस्य एवं क्षेत्र पंचायत सदस्य के क्षेत्र से प्रस्ताव को जिला योजना समिति में अनुमोदन किए जाने के लिए परियोजना निदेशक, जिला ग्राम्य विकास विकास अभिकरण में मांग की। इस दौरान पशु पालन, कृषि, स्वास्थ्य, विकास विभाग के अधिकारियों द्वारा सदन में उपस्थिति पंजिका पर हस्ताक्षर कर के नदारद हो गए, जिसके क्रम में उन अधिकारियों से स्पष्टीकरण मांगा गया। एमएलसी बृजेश कुमार सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा पंचायतों को सशक्त व जागरूक किया जा रहा है। उनकी मंशा के अनुरूप जिला पंचायत में कार्य किया जा रहा है। यह भी अवगत कराया गया कि जिला पंचायत सभागार के सामने जर्जर दुकानों को लेकर कई बार नोटिस देने के बाद दुकाने खाली नही की जा सकी है इस पर तय हुआ कि जिलाधिकारी से वार्ता कर टीम गठित करते हुए जल्द ही खाली कराया जाएगा। इस मौके पर जिला पंचायत सदस्य अमरेश रतन सिंह, महेंद्र यादव, लक्ष्मीकांत यादव, विकास यादव, श्रुतिकृति सिंह, डाॅ.सुनीता वर्मा, कृष्णा सिंह आदि रहे।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद