वाह रे शिक्षा विभाग अनामिका, प्रीती के बाद अब दीप्ति की नियुक्ति में फर्जी दस्तावेज का खुलासा, अभी कितने है और ?




जौनपुर। बेसिक शिक्षा के अधीन कस्तूरबा गाँधी आवासीय बालिका विद्यालय में प्रदेश के अन्दर  पहले अनामिका शुक्ला और फिर बाद में जौनपुर की प्रीती यादव के बाद अब माध्यमिक शिक्षा में फर्जीवाड़े का खेल प्रकाश में आया है। इसका भी खुलासा एसटीएफ ने गिरफ्तार जालसाज आनन्द सिंह से पूंछताछ के दौरान किया है। इस खुलासे से पूरा शिक्षा विभाग दहशत के साये में आ गया है। 
खबर है कि जौनपुर स्थित खुटहन क्षेत्र के राजकीय माध्यमिक विद्यालय डिहियां में  शिक्षिका के पद पर दीप्ति पुत्री सुरेश चन्द्र निवासी नयी बस्ती जनपद फरूखाबाद की नियुक्ति फर्जी अभिलेख के आधार पर किया गया है। इसके नियुक्ति में रामबेटी पुत्री राम लाडेत निवासी हसनपुर भोगावं जनपद मैनपुरी का प्रमाण पत्र लगाया गया है। 
इस तरह शिक्षा विभाग में जालसाजी का खेल बेसिक शिक्षा से लगायत माध्यमिक शिक्षा तक फैला हुआ है। एस टी एफ की सूचना पर विभाग में छान बीन शुरू कर दिया गया है। डीआईओएस कहते हैं मामला संज्ञान में आया है जांच के बाद विधिक कार्यवाही सम्भावित है।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद