उत्तर प्रदेश में भी अब ब्लैक फंगस महामारी घोषित, उपचार की जाने क्या है तैयारी



देश में कोरोना संक्रमण संकट के साथ अब ब्लैक फंगस ने जनता और सरकार दोनों की चिंता बढ़ा दी है। ऐसे में कई राज्यों में इस बीमारी को महामारी घोषित कर दिया गया है। इन राज्यों में आज उत्तर प्रदेश का भी नाम  शामिल हो गया है। यूपी में भी ब्लैक फंगस को महामारी घोषित कर दिया गया है। 
बता दें कि महाराष्ट्र, हरियाणा, राजस्थान समेत यूपी में भी ब्लैक फंगस के मामलों में इजाफा देखा जा रहा है। इस इंफेक्शन के चलते मरीजों  की मौतें भी हो चुकी है। ऐसे में केंद्र सरकार के निर्देशों के क्रम में कोविड की तर्ज पर ब्लैक फंगस को भी सरकार ने महामारी घोषित कर दिया है। बता दें कि ब्लैक फंगस के बढ़ते हुए कहर के मद्देनजर केंद्र ने सभी राज्यों को पत्र लिखकर इसके लिए सतर्क करते हुए म्यूकरमाइकोसिस को महामारी एक्ट के तहत अधिसूचित रोग घोषित करने को कहा था।
एक सरकारी आकड़े के अनुसार उत्तर प्रदेश में अब तक 'ब्लैक फंगस' के 200 केस सामने आ चुके हैं। जबकि अब तक कई मरीजों की मौत भी हो चुकी है। लखनऊ, वाराणसी और मेरठ में म्यूकरमाइकोसिस (Mucormycosis) के ज्यादा मामले देखने को मिल रहे हैं। खबर है कि  कई राज्यों में यह बीमारी तेजी से अपने पैर पसार रही है। अब तक भारत में Black Fungus के चलते करीब 100 से अधिक लोगों ने अपनी जान गंवा दी है। सबसे ज्यादा घातक रूप इसका महाराष्ट्र, हरियाणा और मध्यप्रदेश  में देखने को मिल रहा है।

म्यूकोरमाइकोसीस से कैसे करें बचाव 

काम के दौरान मास्क पहना ना भूले, ख़ास तौर पर किसी कंस्ट्रक्शन साइट पर काम के दौरान।

 बागवानी के दौरान भी अपने शरीर को पूरी तरह से ढक कर रखें। साफ सफाई का पूरा ध्यान रखें। 

डायबिटीज पर कंट्रोल रखें। इम्यूनोमॉड्यूलेटिंग ड्रग या एस्ट्रोराइड का कम से कम इस्तेमाल करें। जरूरत पड़ने पर ही एंटीबायोटिक्स या एंटीफंगल दवाओं का इस्तेमाल करें। 

कोरोना से रिकवरी के बाद ब्लड ग्लूकोज का लेवल मॉनिटर करते रहें।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ड्रेस के लिए बच्चे को पीटने वाला प्रिन्सिपल अब पहुंचा सलाखों के पीछे

14 और 15 दिसम्बर 21को जौनपुर रहेंगे सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव,जानें क्या है कार्यक्रम

ओमिक्रॉन से बढ़ी दहशत,पूर्वांचल के जनपदो में भी मिलने लगे संक्रमित मरीज,प्रशासनिक तैयारी तेजम