विश्वविद्यालय को वैश्विक पहचान अपने विद्यार्थियों से मिलती है - प्रो निर्मला एस मौर्य कुलपति


जौनपुर।  वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय परिसर स्थित अंतर्राष्ट्रीय छात्र सहायता प्रकोष्ठ (ऑफिस फ़ॉर इंटरनेशनल अफेयर्स) द्वारा विदेशों में अपनी सेवाएं दे रहे पूर्वांचल विश्वविद्यालय के पुराछात्रों से जुड़ने हेतु एलुमनाई कनेक्ट (Alumni Connect) कार्यक्रम का ऑनलाइन सम्मेलन हुआ। कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य पुरातन छात्रों को अपने विश्वविद्यालय के अध्ययनरत विद्यार्थियों हेतु वर्तमान में हो रहे नवाचारों से अवगत कराना एवं विदेशी छात्रों को विश्वविद्यालय में अध्ययन हेतु प्रोत्साहित करना है।
इस अवसर पर विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो० निर्मला एस० मौर्य ने कहा कि पुराछात्र विदेशों में रहकर अपने विश्वविद्यालय एवं देश का नाम रोशन कर रहे हैं। उन्होंने आवाह्न किया कि आप सभी विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों से जुड़ें तथा विभिन्न क्षेत्रों में हो रहे शोध अनुसंधानो से अवगत कराएं।
प्रकोष्ठ के समन्वयक डॉ० प्रदीप कुमार ने कार्यक्रम एवं प्रकोष्ठ की गतिविधियों की रूपरेखा प्रस्तुत करते हुए प्रकोष्ठ के विभिन्न उद्देश्यों पर प्रकाश डाला। विदेशों में विभिन्न संस्थाओं में कार्यरत पुराछात्रों ने कहा कि ऐसे कार्यक्रम का आरंभ बहुत ही अच्छी पहल है तथा हम सभी विश्वविद्यालय की प्रगति हेतु अपने अनुभवों/शोध को विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों से साझा करने को तत्पर रहेंगे। रवांडा, ईस्ट अफ्रीका से प्रो० सत्येन्द्र सिंह, यूएसए से डॉ० रक्षामणि त्रिपाठी, डॉ० मुकेश प्रताप यादव, डॉ० प्रशांत,  डॉ० सौरभ प्रियदर्शी, डॉ० अंकित पटेल, डॉ० सौरभ श्रीवास्तव, डॉ० विनीत कुमार मौर्य, डॉ० सुनील कुमार राय, डॉ० रोहित उपाध्याय, डॉ० सुरेश यादव, यूके से डॉ० स्नेहा वर्मा, डॉ० अभय नारायण सिंह, डॉ० विपुल सिंह, डॉ० विष्णु त्रिपाठी, स्विट्जरलैंड से  डॉ० अमिता सिंह, ताइवान से श्री ज्योतिष सिंह, यूएई से डॉ० रुचि सिन्हा, श्री सुंदरम शुक्ल सहित कई पुराछात्र अपनी विश्वविद्यालय से जुड़ी सुनहरी यादों का वर्णन करते हुए भावुक हो गए। सभी पुराछात्रों ने एक स्वर से ऐसे कार्यक्रम को जारी रखने तथा शैक्षणिक आदान प्रदान हेतु अनुकूल वातावरण बनाने पर बल दिया।
सम्मेलन में प्रो० वंदना राय, प्रो० राजेश शर्मा, प्रो० अविनाश पथर्डीकर, प्रो० मानस पांडेय ने भी छात्रों को संबोधित किया तथा अपने अनुभव साझा किए। कार्यक्रम में धन्यवाद ज्ञापन डॉ० मुराद अली एवं संचालन डॉ० गिरिधर मिश्र ने किया। तकनीकी सहयोग डॉ० आलोक दाश ने दिया। इस अवसर पर प्रो० देवराज सिंह, प्रो० अशोक कुमार श्रीवास्तव, डॉ० मनोज मिश्र, डॉ० झांसी मिश्रा, डॉ० मनीष कुमार गुप्ता, डॉ० अन्नू त्यागी, डॉ० धर्मेंद्र कुमार सिंह, डॉ० पुनीत धवन,
डॉ० सुरजीत यादव,डॉ० सचिन अग्रवाल, डॉ० मनोज पांडे, डॉ० उपेंद्र यादव, डॉ० ऋषि श्रीवास्तव, डॉ० सत्यम उपाध्याय, श्री रामांशु प्रभाकर सिंह सहित कई प्राध्यापकगण एवं अन्य छात्र छात्रायें उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ड्रेस के लिए बच्चे को पीटने वाला प्रिन्सिपल अब पहुंचा सलाखों के पीछे

14 और 15 दिसम्बर 21को जौनपुर रहेंगे सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव,जानें क्या है कार्यक्रम

ओमिक्रॉन से बढ़ी दहशत,पूर्वांचल के जनपदो में भी मिलने लगे संक्रमित मरीज,प्रशासनिक तैयारी तेजम