जनपद में 12 सौ से अधिक मतदाता संख्या वाले इन मतदेय स्थलों का हुआ सम्भाजन - एडीएम वित्त


जौनपुर । उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने अवगत कराया है कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा आगामी विधानसभा सामान्य निर्वाचन 2022 को दृष्टिगत रखते हुए मतदेय स्थलों का भौतिक सत्यापन कराकर सम्भाजन कराए जाने हेतु प्राप्त निर्देश के क्रम में मुख्य निर्वाचन अधिकारी उत्तर प्रदेश लखनऊ द्वारा निर्धारित कार्यक्रम एवं वीडियो कांफ्रेंस में दिए गए निर्देशानुसार संबंधित उप जिला जिलाधिकारी/तहसीलदारों के माध्यम से जनपद में अवस्थित 364-बदलापुर, 365-शाहगंज, 366-जौनपुर, 367- मल्हनी, 368-मुंगराबादशाहपुर, 369-मछलीशहर, 370-मड़ियाहूं, 371-जफराबाद एवं 372-केराकत विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों के मतदेय स्थलों का भौतिक सत्यापन कराकर 1200 से अधिक मतदाताओं की संख्या वाले मतदेय स्थलों के सम्भाजन उपरांत मतदेय स्थलों की नई आलेख्य सूची तैयार की गई है, जो 24 अगस्त 2021 को जन सामान्य हेतु प्रकाशित कर दी गई है। जनपद के सभी दलों, संगठनों एवं जन सामान्य से अपील की जाती है कि मतदेय स्थलों की आलेख्य सूची के संबंध में यदि कोई संशोधन/आपत्ति हो तो संबंधित निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी/उप जिलाधिकारी को 30 अगस्त 2021 तक लिखित रूप में प्राप्त करा सकते हैं। उक्त अवधि के पश्चात प्राप्त आपत्तियों पर कोई विचार नहीं किया जाएगा। मतदेय स्थलों के सम्भाजन उपरांत जनपद में अवस्थित मतदेय स्थलों का विवरण विधानसभावार है, जिसमें 364-बदलापुर में पूर्व स्वीकृति मतदेय स्थल की संख्या 352, सम्भाजनोपरान्त मतदेय स्थलों की संख्या 396, 365-शाहगंज में पूर्व में 377, सम्भाजनोपरान्त 440, 366-जौनपुर में पूर्व में 410 सम्भाजनोपरान्त 481, 367-मल्हनी में पूर्व स्वीकृत 372, सम्भाजनोपरान्त 429, 368-मुंगराबादशाहपुर में पूर्व में 388 सम्भाजनोपरान्त 444, 369-मछलीशहर में पूर्व में 393 सम्भाजनोपरान्त 451, 370-मड़ियाहूं में पूर्व में 345 सम्भाजनोपरान्त 381, 371-जफराबाद में पूर्व में 383 सम्भाजनोपरान्त 426, 372-केराकत में पूर्व स्वीकृत मतदेय स्थल की संख्या 435 तथा सम्भाजनोपरान्त मतदेय स्थलों की संख्या 488 है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन