जर्जर बिजली के तारों और खम्भो के नीचे मौत के साये में जीने को मजबूर है मछलीशहर वासी, जन प्रतिनिधि गण है बेखबर



जौनपुर। मछलीशहर संसदीय क्षेत्र के सांसद एवं इस विधानसभा के विधायक विकास चाहे जितने दावे करते हो लेकिन सच ठीक इसके उलट ही नजर आ रहा है। इनके दावों के सच की पोल खोल रहे है इस क्षेत्र के समाज सेवी जज सिंह अन्ना, इनके द्वारा मछलीशहर क्षेत्र में भ्रमण कर पानी बिजली सड़क शिक्षा स्कूल और गोंद लिये गये गांव आदि का सच जरिये वीडियो शोसल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है। इससे जन प्रतिनिधि गण पूरी तरह से बिलबिलाये हुए है और समाज सेवी पर आरोप लगाने का काम कर रहे है। 
ताजा मुद्दा जज सिंह अन्ना ने तहसील मछलीशहर मुख्यालय के बिजली के जर्जर तार और खम्भे को लेकर उठाया है जो वर्तमान समय में 24सो घन्टे बड़ी दुर्घटना को दावत देते नजर आ रहे है। जज सिंह अन्ना ने तहसील मुख्यालय पर जर्जर तारों और खम्भो का वीडियो वायरल करते हुए खुला आरोप लगाया है कि मछलीशहर के दोनो जनप्रतिनिधि सांसद बीपी सरोज भाजपा एवं विधायक जगदीश सोनकर सपा दोनों पूरी तरह से क्षेत्र के प्रति गैर जिम्मेदार नजर आ रहे है इनके द्वारा न तो इन जर्जर तारो और खम्भो को बदलने के लिए सरकार द्वारा विकास के लिए दी जाने वाली सांसद अथवा विधायक निधि से पैसा बिजली विभाग को आज तक दिया जा सका है न ही जर्जर तारो को बदलने के लिए बिजली विभाग को किसी तरह का कोई पत्र ही दिया गया है। 
जज सिंह अन्ना ने जानकारी दिया है कि रोडवेज के पास जहां पर प्रतिदिन बड़ी तादाद में बसो और यात्रियों का आवा गमन होता बिजली का तार कभी भी बड़ी दुर्घटना को अंजाम दे सकता है। इसके अलांवा पूरे मछलीशहर कस्बे सहित आस पास के लगभग 10 किमी क्षेत्रफल में तार इतने पुराने है कि किसी भी समय टूट कर गिर सकते है। इस बाबत मछलीशहर बिजली विभाग के जेई का कथन है कि जर्जर तारो को बदलने के लिए विभाग में लगातार पत्रचार किया जा रहा है लेकिन शासन स्तर से बजट की व्यवस्था न किये जाने के कारण  जर्जर तारों में डन्डे का सपोर्ट बांध कर बिजली की आपूर्ति करायी जा रही है। 
इस समस्या को लेकर कौरहा गांव में जज सिंह अन्ना धरने पर बैठे तो वहां पर क्षेत्रीय  सांसद बीपी सरोज भी गये सांसद के द्वारा कहा गया कि धरना प्रदर्शन से कोई काम नहीं हो सकता है। जहां की समस्या है लिखित दें तो उसे देखा जा सकता है। धरनारत समाज सेवी अन्ना ने जब दर्जन भर गांव का नाम बताया तो सांसद काम कराने के बजाय खिसक लिये। जहां तक सपा नेता एवं मछलीशहर विधायक का सवाल है उनसे तो क्षेत्र की समस्या से मानो कोई सरोकार ही नहीं अपने विधायक और मंत्री काल में केवल एक सूत्रीय कार्य जमीन का कारोबार करना मात्र है संयोग ही है कि मछलीशहर की जनता ने जगदीश सोनकर को दो बार अपना जनप्रतिनिधि चुना लेकिन अब अपने निर्णय पर पछता रही है। क्योंकि क्षेत्र की समस्याओ दूर करने की दिशा में आज तक किसी तरह का प्रयास नहीं किया है। 



 ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भाभी को अकेला देख देवर की नियत हुई खराबा, जानें फिर क्या हुआ, पुलिस को तहरीर का इंतजार

घुस लेते लेखपाल रंगेहाथ गिरफ्तार, मुकदमा दर्ज कर एनटी करप्शन टीम ले गयी साथ

सिद्दीकपुर में चला सरकारी बुलडोजर मुक्त हुई 08 करोड़ रुपए मालियत की सरकारी जमीन