जौनपुर की महिला गिरोह ने सिपाही को जानें कैसे कर रहा था ब्लैक मेल,अब सलाखों के पीछे


प्रतापगढ़ जिले क्षेत्र के पट्टी थाने में तैनात एक सिपाही से दोस्ती करने के बाद उसे ब्लैकमेल करने वाली युवती को पुलिस ने दो साथियों के साथ गिरफ्तार किया है। युवती जौनपुर जिले के मीरगंज थाना क्षेत्र की रहने वाली है। पुलिस ने वहीं से उसे गिरफ्तार किया। इस मामले का खुलासा भी प्रतापगढ़ पुलिस ने किया है।
पुलिस के अनुसार, मीरगंज थाना क्षेत्र के कसेरूआ गांव निवासी रोशनी सरोज ने काफी दिन पहले प्रतापगढ़ जिले के पट्टी थाने में तैनात एक आरक्षी के मोबाइल नंबर पर कॉल किया। इसके बाद उसने अपना नाम काजल यादव बताया। धीरे-धीरे उससे मित्रता बढ़ गई।
पुलिस को झूठी सूचना देकर बताया- आरक्षी मेरा पति है
आरक्षी के अनुसार, बातचीत के दौरान काजल द्वारा उसकी पूरी जानकारी प्राप्त कर ली गई। इसके बाद उससे दो लाख रूपये की मांग की गई। आरक्षी द्वारा मना करने पर उसे झूठा आरोप लगाकर फंसाने की धमकी दी। आरक्षी ने पैसे नहीं दिए तो काजल ने 9 अक्तूबर को 112 नंबर पर कॉल करके यह झूठी सूचना दी कि आरक्षी मेरा पति है, जिसका संबंध अन्य महिलाओं से हो गया है और वो मुझे घर से निकाल रहा है। इस सूचना पर पुलिस बताए स्थान पर पहुंची, लेकिन वह कहीं नहीं मिली।
पैसे न देने पर झूठे आरोप में फंसा देने की धमकी दी
12 अक्तूबर को काजल यादव ने आरक्षी को फोन करके पैसे मांग की और धमकी दी कि पैसे दे दो नहीं तो इस तरह फंसा दूंगी कि तुम्हारी नौकरी चली जाएगी। इस पर आरक्षी द्वारा बताया गया कि मैं थाना क्षेत्र पट्टी में हूं, तुम यहीं आ जाओ और पैसे ले लो। उसके कई घटे बाद काजल ने फोन करके बताया गया कि मैं उड़ैयाडीह बाजार में हूं। यहीं पर आकर रूपये दे दो। 
इस पर पट्टी थाने की पुलिस महिला आरक्षियों के साथ योजनाबद्ध तरीके से उडै़याडीह पहुंची। उडै़याडीह बाजार में पहुंचने पर प्रकरण से संबंधित आरक्षी, काजल से मिला। इस पर पुलिस टीम द्वारा घेराबंदी कर उसे हिरासत में लिया गया। पुलिस ने कड़ाई से पूछताछ उसने अपना असली नाम रोशनी सरोज पुत्री राकेश सरोज निवासी कसेरूआ थाना मीरगंज बताया।
पुलिस के अनुसार, उसने यह भी बताया कि वह अपने दो साथियों अखिलेश सरोज पुत्र राम अछैबर सरोज निवासी गुढ़ाई थाना मुंगरा बादशाहपुर और मुकेश सिंह पुत्र गुलाब सिंह निवासी किर्तापुर थाना सुरियावां जिला भदोही के साथ बाइक से आई है। महिला की निशानदेही पर उड़ैयाडीह बाजार से ही उसके दोनों साथियों को भी गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार अभियुक्तों ने पूछताछ में बताया कि हम लोग इसी प्रकार रोशनी सरोज से बात करवा कर लोगों को फंसा कर उनसे रूपये ले लेते हैं। इसी तरह आज भी हम यहां रूपये लेने आए थे।

 

 

 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

टीईटी साल्वर गिरोह का हुआ भन्डाफोड़, दो गिरफ्तार,एक जौनपुर दूसरा सोनभद्र का निकला

जौनपुर में तैनात दुष्कर्म के आरोपी पुलिस इन्सपेक्टर की सेवा हुई समाप्त, जानें क्या है घटना क्रम

प्रेम प्रपंच में युवकों की जमकर पिटाई, प्रेमी की इलाज के दौरान मौत तो दूसरा साथी गंभीर