मोदी और योगी की सरकार ने केवल जनता को ठगने का किया काम :राम अचल राजभर


जौनपुर। विधानसभा शाहगंज में आयोजित सपा लाओ प्रदेश बचाओ सामाजिक भाईचारा सम्मेलन कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पुर्व मंत्री एवं विधायक राम अचल राजभर ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि ये सरकर झूठी हैं और इनके कथनी और करनी में बिल्कुल भी एकरूपता नहीं हैं ये झूठे लोग सिर्फ़ झूठे जुमले देकर हमारे वोट भी लेते हैं और हमरे मानवाधिकारों का हनन भी करते हैं
राम अचल राजभर ने भाजपा पर तीखा व्यंग कसते हुए कहा कि ये मोदी और योगी की सरकार ने जनता को सिर्फ़ ठगने का काम किया हैं इन्होंने बोला था कि सरकार बना दो सबके खाते में 15-15 लाख रूपए भेजवा दूंगा लेकिन इन्होंने वो तो किया नहीं पर आज हमारे समाज को इस कदर महंगाई तले दबा दिए कि आज हमारा समाज 15 रूपए की प्याज को भी खरीदने में असमर्थ हो चुकीं हैं
श्री राजभर ने कहा कि ये झूठी सरकार ने जनता से वादा किया था कि हमारी डबल इंजन कि सरकार बनवा दो किसानो की आय दुगनी कर देंगे युवाओं को रोज़गार देंगे लेकिन आज किसानो और युवाओं के रोज़गार की बात तो दूर परीक्षाएं तक नहीं करा पा रही हैं भाजपा सरकार नहीं चाहती कि पिछड़ों का विकाश हो पिछड़ों का विकाश सिर्फ और सिर्फ सपा की सरकार में संभव हैं।
कार्यक्रम को शाहगंज के विधायक शैलेंद्र यादव ललई और कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे जिलाध्यक्ष लालबहादुर यादव ने कहा कि शोषित,वंचित,पिछड़ों व दलितों का विकास ही समाजवादियों का लक्ष्य है, 2022 में सरकार बनने पर मुख्य रूप से इन्हें सामाजिक,आर्थिक और राजनीतिक रूप से मुख्य धारा में लाने का काम अखिलेश सरकार में किया जाएगा।
उक्त अवसर पर   भगेलू राम, पूर्व विधायक अरशद खान, पूर्व विधायक रामसेवक राजभर, ज़िला महासचिव हिसामुद्दीन शाह, श्रवण जायसवाल, जवाहिर राजभर, रमापति राजभर, रुकसार अहमद, शिवेंद्र यादव, राकेश राजभर, शारदा देवी राजभर सहित बड़ी संख्या में पार्टीजन, नेता व कार्यकर्ता गण उपस्थित रहे।
कार्यक्रम के आयोजक संजय यादव,सैय्यद उरूज और उनके सहयोगियों ने धन्यवाद ज्ञापित किया। संचालन महामंत्री संजय राजभर ने किया।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

इलाहाबाद हाईकोर्ट का ग्रामसभा की जमीन को लेकर डीएम जौनपुर को जानें क्या दिया आदेश

सिकरारा क्षेत्र से गायब हुई दो सगी बहने लखनऊ से हुई बरामद, जानें क्या है कहांनी

ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने दबंगो के कब्जे से मुक्त करायी 30 करोड़ रुपए कीमत की सरकारी जमीन