कोर्ट के आदेश पर थानेदार सहित नौ पुलिस कर्मियों पर मुकदमा हुआ दर्ज, जानें क्या है मामला


जौनपुर । न्यायालय के आदेश पर पुलिस ने दलित उत्पीड़न, छेड़खानी, मारपीट व गालीगलौज के आरोप में खुटहन थाने के तत्कालीन प्रभारी निरीक्षक बिजेंद्र सिंह सहित नौ पुलिस कर्मियों के खिलाफ शुक्रवार को मुकदमा दर्ज कर लिया है। घटना नौ सितंबर की है। आरोपी तत्कालीन प्रभारी निरीक्षक की वर्तमान तैनाती कानपुर जिले में है।
खुटहन थाना क्षेत्र के फतेगढ़ गांव निवासी सुषमा देवी ने एससी-एसटी कोर्ट में प्रार्थना पत्र दिया था। आरोप लगाया था कि विपक्षी गण पुलिस की मदद से सड़क किनारे उसकी जमीन पर 9 सितंबर को एकजुट होकर कब्जा कर दीवार बना रहे थे।
आरोप है कि विरोध करने पर अनमोल विश्वकर्मा, रामस्वरथ गौतम, शक्ति सिंह, राजेश सिंह व खुटहन थाना प्रभारी विजेंद्र सिंह व तीन महिला पुलिस कर्मियों ने मिलकर उसकी पिटाई की और जातिसूचक शब्द का प्रयोग करते हुए गालियां दिये। आरोप है कि वह डरकर घर के भीतर भाग गई तो वहां भी पहुंच कर पीटा और बदनीयत से कपड़े फाड़ दिए।
आरोपियों ने जान से मारने की धमकी भी दी। इस संबंध में थानाध्यक्ष अश्वनी कुमार दुबे ने बताया कि कोर्ट के आदेश पर विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। अब आगे की कार्रवाई की जाएगी। हलांकि पुलिस जनों की गिरफ्तारी को लेकर संशय बना हुआ है। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हर रात एक छात्रा को बंगले पर भेजो'SDM पर महिला हॉस्टल की अधीक्षीका ने लगाया 'गंदी डिमांड का आरोप; अधिकारी ने दी सफाई

यूपी कैबिनेट की बैठक में जौनपुर की इस नगर पालिका के विस्तार का प्रस्ताव स्वीकृत

जफराबाद विधायक का खतरे से बाहर डाॅ गणेश सेठ का सफल प्रयास, लगा पेस मेकर