आखिर पत्नी ने ऐसा क्या कहा कि पति फांसी पर झूल गये, पुलिस ने की विधिक कार्यवाई


जौनपुर। जिले के थाना बक्शा क्षेत्र स्थित 
 मई गांव में एक स्वास्थ्यकर्मी ने पत्नी से विवाद के बाद फांसी लगाकर अपनी जान दे दी है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस की जांच में यह बात सामने आई कि युवक ने रात में पत्नी से मोबाइल चैटिंग के दौरान हुए विवाद के बाद ऐसा खौफनाक कदम उठाया। घटना गुरुवार को देर रात की है।
बक्शा थाना क्षेत्र के मई गांव निवासी राजेंद्र प्रसाद उपाध्याय का पुत्र सौरभ उर्फ नितिन उपाध्याय (35) नौपेड़वा सीएचसी अस्पताल पर स्वास्थ्यकर्मी के रूप में आयुष्मान कार्ड बनाने का काम करता था। गुरुवार सुबह ही सौरभ अपनी पत्नी वंदना को वाराणसी स्थित मायके में पहुंचा कर शाम को घर आया था।  
पत्नी ने ही दी थी परिजनों को सूचना
रात में पत्नी से मोबाइल पर चैटिंग के दौरान किसी बात को लेकर विवाद हो गया। पति-पत्नी के बीच तनातनी इस कदर बढ़ी कि सौरभ ने खुद को खत्म करने की चेतावनी दे दी।  थोड़ी ही देर बाद बंद कमरे में साड़ी का फंदा बनाकर झूल गया। उधर, वंदना ने इस बात की सूचना सौरभ के साथियों और परिजनों को दी।  सौरभ के कई साथी आननफानन उसके घर पहुंचे।
कमरे के बाहर से आवाज लगाई तो कोई जवाब नहीं मिला। अनहोनी की आशंका में पिता राजेंद्र उपाध्याय की मौजूदगी में दरवाजा तोड़ा गया। अंदर का दृश्य देख लोग सकते में आ गए। परिजनों में कोहराम मच गया। रात में ही पत्नी वंदना अपने परिजनों के साथ पहुंची। मौके पर पहुंचे थानाध्यक्ष दिव्य प्रकाश सिंह ने शव को कब्जे में लिया। शुक्रवार को थानाध्यक्ष ने बताया की शव को पोस्टमार्टम के भेज दिया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्यवाही होगी। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हर रात एक छात्रा को बंगले पर भेजो'SDM पर महिला हॉस्टल की अधीक्षीका ने लगाया 'गंदी डिमांड का आरोप; अधिकारी ने दी सफाई

यूपी कैबिनेट की बैठक में जौनपुर की इस नगर पालिका के विस्तार का प्रस्ताव स्वीकृत

जफराबाद विधायक का खतरे से बाहर डाॅ गणेश सेठ का सफल प्रयास, लगा पेस मेकर