नैक मंथन कार्यशाला तैयारी की कुलपति ने की समीक्षा

जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय की कुलपति सभागार में बुधवार को नैक मंथन की कार्यशाला की तैयारी की कुलपति ने किया समीक्षा। इस अवसर पर नैक से संबंधित विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा की गई। साथ में प्रारंभ के तीन क्राइटेरिया पर गहन विशेष जोर दिया गया।
इस अवसर पर कुलपति प्रो. निर्मला एस. मौर्य ने कहा कि छात्रों,  अध्यापकों,  एंपलॉयर्स एवं एलुमनाई के फीडबैक को गूगल फॉर्म से भराया जाए। साथ ही साथ कंसलटेंसी गाइडलाइन बनाने के लिए तीन सदस्यी समिति गठित करने की गई। इसमें डॉ. प्रदीप कुमार,  डॉ. रजनीश भास्कर एवं डॉ. आशुतोष कुमार सिंह सदस्य रहेंगे।
बताते चले कि डॉ० ए.पी.जे. अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय, लखनऊ में नैक मंथन कार्यशाला चार और  पांच अप्रैल 2022 को आयोजित है। इसमें प्रतिभाग की तैयारी हेतु यह बैठक की गई है। बैठक में विश्वविद्यालय के कुलसचिव महेंद्र कुमार,  आइक्यूएसी. समन्वयक प्रो. मानस पाण्डेय, नैक एसएसआर अध्यक्ष प्रो. देवराज सिंह , प्रो. अशोक कुमार श्रीवास्तव, डॉ. धर्मेंद्र सिंह, डॉ. आशुतोष कुमार सिंह,  डॉ आलोक कुमार वर्मा,  डॉ प्रदीप कुमार,  डॉ. रजनीश भास्कर, सुश्री प्रियंका कुमारी उपस्थित थी। कल 31 मार्च को पुनः शेष चार क्राइटेरिया पर चर्चा हेतु बैठक की जाएगी ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

अब से राशन मिलना बंद, पूरे 4 महीने के लिए लगी राशन पर रोक, जानें क्या है कारण

पूर्वांचल के रास्ते यूपी में जानें कब प्रवेश कर सकता है मानसून, भीषण गर्मी से मिलेगी निजात

सीएम योगी के एक ट्वीट से लखनऊ का नाम बदलने की सुगबुगाहट, जानें क्या हो सकता है नया नाम