शहर को जाम से मुक्त करने और सुन्दरीकरण के लिए जौनपुर में रविवार को चलेगा प्रशासन का बुलडोजर,नाप जोख हुई


जौनपुर। अब जिला प्रशासन ने शहर के जाम की समस्या सहित सुन्दरीकरण के लिए अभियान चलाने का निर्णय लेते हुए पूरे शहर में जिन जिन लोगों ने सरकारी जमीन पर अतिक्रमण कर बड़ी बड़ी इमारतें खड़ी कर लाखों का कारोबार कर रहे है उन सभी लोगों को अल्टीमेटम देते हुए शुक्रवार को निशान लगा दिया कि किसका कहां तक अतिक्रमण है। अगर वह खुद से अपना अतिक्रमण हटा लेते है तो ठीक वरना प्रशासन रविवार को बुलडोजर लेकर पहुंच जाएगा। 
पूरे शहर को सुंदर शहर बनाने की कड़ी में प्रशासन का यह पहला कदम है। जिला प्रशासन की ओर से मौके पर पहुंचे ज्वाइंट मजिस्ट्रेट हिमांशू नागपाल की माने तो अब यह कदम रुकने वाला नहीं है। यहां यह भी बता कि शहर के अतिक्रमण को हटाने की जिम्मेदारी बुलडोजर मास्टर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट हिमांशु नागपाल को दी गयी है। 
मालूम हो कि पूरा शहर अतिक्रमण की चपेट में है। जिससे हर रोज जाम की समस्या तो बनी ही रहती है साथ ही जौनपुर शहर की खूबसूरती में भी अतिक्रमण को दाग माना जा रहा है। विगत गुरुवार को जिलाधिकारी ने जिले भर के अधिकारियों के साथ बैठक की। जिसमें किस तरह से शहर को सुंदर व नदी के किनारों को आकर्षक बनाया जा सकता है। इस पर  गहन मंत्रणा की गयी सुंदरता में आड़े आ रही चीजों पर फोकस करते हुए अलग अलग जिम्मेदारी अधिकारियों को दी गयी। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट हिमांशू नागपाल को अतिक्रमण हटवाने की जिम्मेदारी मिली। जिम्मेदारी मिलते ही ज्वाइंट मजिस्ट्रेट हिमांशू नागपाल राजस्व अभिलेखो को लेकर निकल पड़े और कोतवाली के पास स्थित चांद मेडिकल के सामने वाली सड़क के साथ ही जेसिज से ओलन्दगंज वाली सड़क पर नाप जोख की गयी। बीच सड़क से कही पर आठ मीटर तो कही पर 15 मीटर तक निशान लगाया गया है।
जेसिज से ओलन्दगंज तक निशान लगा दिया गया है। दो दिन का वक्त दिया गया है। रविवार को प्रशासन अतिक्रमण हटवाएगा। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने बताया है कि अतिक्रमण हटाये जाने के दौरान जो भी चीज मौके से मिलेगी वह प्रशासन कब्जे में ले लेगा। इतना ही अतिक्रमण हटाने के खर्च की भी वसूली की जायेगी। इसलिए अतिक्रमण करने वाले लोग खुद अपना अवैध अतिक्रमण हटा ले।

टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

इलाहाबाद हाईकोर्ट का ग्रामसभा की जमीन को लेकर डीएम जौनपुर को जानें क्या दिया आदेश

सिकरारा क्षेत्र से गायब हुई दो सगी बहने लखनऊ से हुई बरामद, जानें क्या है कहांनी

ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने दबंगो के कब्जे से मुक्त करायी 30 करोड़ रुपए कीमत की सरकारी जमीन