यूपी के माध्यमिक शिक्षा विभाग इन 95 अधिकारीयों का हुआ तबादला


माध्यमिक शिक्षा विभाग में बीती रात बड़े पैमाने पर तबादले किए गए हैं। लगभग 95 अधिकारी इधर, उधर हुए हैं। कई जिलों के डीआईओएस बदल गए हैं। अयोध्या के डीआईओएस राकेश पांडेय अब लखनऊ के नए डीआईओएस होंगे, जबकि लखनऊ में तैनात अमरकांत को लखीमपुर खीरी का डीआईओएस बनाया गया है। 
अयोध्या में उन्नाव के डीआईओएस राजेंद्र कुमार पांडे को भेजा गया है। इसके साथ ही कई अन्य अधिकारियों, राजकीय इंटर कॉलेजों के प्रधानाचार्यों का भी तबादला हुआ है। निदेशालय स्तर पर भी कई वरिष्ठ अधिकारी इधर से उधर हुए हैं। 
प्रयागराज निदेशालय में अपर शिक्षा निदेशक राजकीय के पद पर तैनात अंजना गोयल को माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड का सचिव बनाया गया है। इसके अलावा प्रयागराज निदेशालय में ही संयुक्त शिक्षा निदेशक (अर्थ) के पद पर तैनात महेंद्र देव अब प्रयागराज निदेशालय में ही प्रभारी अपर शिक्षा निदेशक (माध्यमिक) का कार्यभार संभालेंगे। 
मंडली संयुक्त शिक्षा निदेशक कानपुर केके गुप्ता का तबादला शिक्षा निदेशालय प्रयागराज में प्रभारी अपर शिक्षा निदेशक (राजकीय) के पद पर किया गया है। मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशक बस्ती मनोज कुमार द्विवेदी इसी पद पर कानपुर भेजे गए हैं। वही प्रभारी मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशक आगरा मुकेश चंद्र अग्रवाल का तबादला मुरादाबाद में इसी पद पर किया गया है। 
सहारनपुर के मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशक रामप्रताप शर्मा को इसी पद पर आगरा व मुरादाबाद में इसी पद पर तैनात मनोज कुमार द्विवेदी को बस्ती का मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशक बनाया गया है। 
इसके अलावा प्रयागराज में निदेशालय में तैनात सहायक निदेशक (सेवाएं) रामशरण सिंह अब लखनऊ में संयुक्त निदेशक राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान होंगे। वहीं लखनऊ में इस पद पर अभी तक तैनात सांत्वना तिवारी को विशेष कार्याधिकारी पुस्तकालय प्रकोष्ठ शासन में बनाया गया है। कुछ अधिकारी ऐसे भी हैं जिन्हें माध्यमिक शिक्षा से बेसिक शिक्षा विभाग में तैनात किए जाने के लिए अनापत्ति दी गई है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भीषण सड़क दुर्घटना में दस लोगो की मौत दो दर्जन गम्भीर रूप से घायल, उपचार जारी

यूपी में जौनपुर के माधोपट्टी के बाद संभल औरंगपुर जानें कैसे बना आइएएस आइपीएस की फैक्ट्री

जानिए इंटर के छात्र ने प्रधानाचार्य को गोली क्यों मारी, हालत नाजुक, छात्र पुलिस पकड़ से दूर