प्राथमिक विद्यालय निरीक्षण के दौरान डीएम मनीष कुमार वर्मा ने शिक्षको की ली क्लास





विद्यालय में बच्चो के कम पंजियन और साफ-सफाई को लेकर व्यक्त की नाराजगी और बीएसए को व्यवस्था सुधारने की दी हिदायत 


जौनपुर। जनपद में प्राथमिक विद्यालयों शैक्षिक स्तर सुधारने और गुणवत्ता परक शिक्षा के लिए लगातार प्राईमरी विद्यालयो के निरीक्षण का अभियान चलाते हुए जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा ने बेसिक शिक्षाधिकारी डाॅ गोरखनाथ पटेल के साथ आज प्राथमिक विद्यालय पांडेपुर एवं इंग्लिश मीडियम विद्यालय हसनपुर सिकरारा का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान विद्यालय में कुल 71 बच्चे पंजीकृत मिलने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए बच्चों की संख्या और बढ़ाये जाने के लिए शख्त निर्देश दिया है।निरीक्षण के दौरान विद्यालय में साफ-सफाई एवं परिसर में सामान बिखरे हुए पाए जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कड़ी फटकार लगाई। जिलाधिकारी ने बेसिक शिक्षा अधिकारी डा0 गोरखनाथ पटेल को निर्देशित किया कि सभी विद्यालयों में अभियान चलाकर साफ-सफाई के कार्य कराए जाएं। स्कूल परिसर में किनारे- किनारे इंटरलॉकिंग लगाने और बीच में छोटा सा खेल का मैदान बनाए जाने के निर्देश जिलाधिकारी द्वारा दिया गया।


उन्होंने उप जिलाधिकारी को निर्देशित किया कि गाँव वालों से समन्वय कर स्कूल के संपर्क मार्ग को बनवाना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने सभी अध्यापकों को निर्देशित किया कि सभी विषयों की 01-01 किताबे विद्यालयों में अवश्य रहे। उन्होंने सभी अध्यापकों को निर्देशित किया कि पढ़ाई में कमजोर बच्चों को आधा घंटा अलग से दिया जाए।

इंग्लिश मीडियम विद्यालय हसनपुर के निरीक्षण के दौरान अध्यापकों को निर्देशित किया कि बच्चों से एक्टिविटी बेस्ड पढ़ाई पर ज्यादा ध्यान दिया जाए, जिससे बच्चों को सीखने में आसानी हो और विषय उन्हें रोचक लगे। विद्यालय में रखे फायर यंत्र को अपडेट करने के निर्देश जिलाधिकारी ने दिया। किचन की फर्श को ऊपर किये जाने का निर्देश खंड विकास अधिकारी सिकरारा को दिया।

उप जिलाधिकारी को निर्देशित किया कि गांव में जगह चिन्हित कर एक बड़ा खेल मैदान बनाया जाए। इस दौरान जिलाधिकारी के द्वारा सहायक अध्यापिका रन्नो दुबे ने एक्टिविटी के द्वारा बच्चों को कैसे पढ़ाया जाता है, विस्तार से जानकारी दी जिसे देखकर जिलाधिकारी द्वारा विद्यालय के अध्यापकों की प्रशंसा भी की और कहा कि इसी तरह अन्य विद्यालयों में भी बच्चों को सिखाने का प्रयास किया जाए।


जिलाधिकारी ने सभी अध्यापकों से कहा कि बच्चे देश का भविष्य है। जिन्हें अभी से तैयार करने का पूरा प्रयास किया जाए, उन्हें छोटी-छोटी बातें जैसे हाथ धोना, नाखून काटना, माता-पिता एवं बड़ो को नमस्ते करना सिखाया जाए।निरीक्षण के दौरान गांव की सविता गौतम के द्वारा बताया की बीए की पढ़ाई करने के उपरांत घर पर ही सिलाई कढ़ाई करती हॅू, जिस पर उन्हें समूहों से जोड़ने एवं कौशल विकास मिशन के तहत प्रशिक्षण दिलाने के निर्देश जिलाधिकारी के द्वारा दिये गए।


इस अवसर पर सहायक अध्यापक राज कुँवर सिंह, मधुलिका यादव, कुसुम पांडये, प्रधानाध्यापक रवि प्रकाश मिश्रा, संगीता सिंह, सविता यादव, शिक्षामित्र चंदन सहित अन्य उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जफराबाद विधायक को हार्ट अटैक फस्टेड के बाद, मेदान्ता के लिए रेफर

जफराबाद विधायक का खतरे से बाहर डाॅ गणेश सेठ का सफल प्रयास, लगा पेस मेकर

योगी सरकार ने यूपी में आज फिर 12 आईएएस का तबादला, देखे सूची