हिन्दी भाषा के बगैर भारत और भारतीयता है अधूरी- नीलू सिंह


जौनपुर। गांधी स्मारक पीजी कॉलेज समोधपुर,में 14 सितम्बर 2022 हिन्दी  दिवस मनाया गया । इस अवसर पर डॉ रमेश चंद्र सिंह ने बताया कि 14 सितम्बर 1949 को संविधान सभा ने यह निर्णय लिया कि हिन्दी संघ सरकार की आधिकारिक भाषा होगी। तब पं. जवाहर लाल नेहरू ने  14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाने का आह्वान किया । इसके पश्चात वर्ष 1953 से 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है । डॉ अरविंद कुमार सिंह ने बताया कि प्रतियोगी परीक्षाओं में हिंदी माध्यम के विद्यार्थी बहुत अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं । लोक सेवा आयोग एवं अन्य परीक्षाओं में भी अपना परचम लहरा रहे हैं । डॉ नीलू सिंह ने बताया कि हिंदी आत्मा और संस्कार की भाषा है, संवेदना की भाषा है, जीने की भाषा है, संस्कृति की भाषा है, समाज को जोड़ने की भाषा है, मातृ भाषा है । हिंदी भाषा के बिना भारत और भारतीयता अधूरी है । विभागाध्यक्ष जितेंद्र सिंह ने बताया वर्तमान समय में किसी भाषा या बोली को जीवित रखने के लिए विज्ञान, रोजगार और व्यवसाय बनाने की आवश्यकता है । श्री विष्णुकांत त्रिपाठी और विकास कुमार यादव ने विचार व्यक्त किए । अंत मे जितेंद्र सिंह ने सभी प्रतिभागियों का धन्यवाद किया ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मौसम विभाग का एलर्ट इन 23 जिलो में हवाओ के साथ होगी बरसात

दुर्गा पूजा पंडाल में लगी आग छ: की मौत 50 से अधिक झुलसे सभी बीएचयू ट्रामा सेंटर रेफर

खाकी वर्दी में घूम रहा नकली फर्जी, जालसाज इंस्पेक्टर गिरफ्तार, लड़क‍ियों की श‍िकायत