मुख्यमंत्री ने फ्लैग ऑफ करके लखनऊ सहित यूपी के चार शहरों में वॉकाथन का किया शुभारंभ


लखनऊ, वाराणसी, आगरा और ग्रेटर नोएडा में आयोजित होंगे जी-20 सम्मेलन
 
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के चार शहरों में फरवरी माह से आयोजित होने जा रहे जी-20 सम्मेलन को लेकर व्यापक जनजागरूकता का प्रसार करने के लिए शनिवार को 'रन फॉर जी-20 वॉकाथन' का आयोजन किया गया। इस दौरान राजधानी लखनऊ सहित आगरा, वाराणसी और गौतम बुद्धनगर में वॉकाथन का आयोजन किया गया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुबह 9 बजे अपने पांच कालीदास मार्ग स्थित सरकारी आवास से फ्लैग ऑफ करके एक साथ चारों शहरों में वॉकाथन का शुभारंभ किया। फ्लैग ऑफ कार्यक्रम के दौरान अपने उद्बोधन में मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश को जी-20 सम्मेलन के आतिथ्य का सुअवसर प्राप्त हुआ है। इस सम्मेलन के जरिए अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर प्रदेश की छवि, यहां की संस्कृति, खानपान और डिजिटल यूपी को प्रदर्शित करने का अवसर हमें मिला है। 

प्रदेश में शुरू हुई जी-20 के लिए कार्यक्रमों की व्यापक शृंखला
मुख्यमंत्री ने कहा कि वसुधैव कुटुम्बकम के ध्येय वाक्य और एक धरती, एक परिवार, एक भविष्य के संकल्प के साथ इस वर्ष भारत में जी-20 सम्मेलन का आयोजन हो रहा है। उत्तर प्रदेश में जी-20 सम्मेलन के अलग-अलग दिवसों पर कुल 11 बैठकों का आयोजन होगा। जी-20 सम्मेलनों के उपलक्ष्य में आज से प्रदेश में व्यापक तौर पर कार्यक्रमों की शृंखला शुरू हो रही है। आज वॉकाथन और मिनी मैराथन का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि प्रदेश की राजधानी लखनऊ सहित चार शहरों में जी-20 की कुल 11 मीटिंग्स होनी है, उनके प्रति आम जनमानस की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए यह आयोजन आज से प्रारंभ हो रहा है। 

हमें भारत की सनातन सोच को उजागर करने का अवसर मिला है
मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं इस अवसर पर लखनऊ, वाराणसी, आगरा और गौतम बुद्धनगर के जिलों में इसमें भाग ले रहे सभी प्रतिभागियों, जन प्रतिनिधियों और प्रशासन के लोगों का हृदय से अभिनंदन करता हूं। देश आजादी का अमृत महोत्सव उत्साह मना रहा है। इसके साथ ही अनेक उपलब्धियां हमें प्राप्त होती दिख रही हैं। दुनिया इस बात को मान रही है कि वैश्विक संकट के इस दौर में भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के रूप में एक मात्र ऐसा यशस्वी नेतृत्व हैं, जो दुनिया को संकट से उभार सकते हैं। ये मेरा है और ये तेरा है की भावना कभी भारत की नहीं रही। भारतीय मनीषियों ने हमेशा वसुधैव कुटुम्बकम के जरिए पूरी दुनिया को एक परिवार के रूप में मानने की बात कही है। यही भारत की सनातन सोच रही है। उस सोच को उजागर करने का अवसर आज भारत के पास आया है। आज भारत को जी-20 की अध्यक्षता करने का अवसर मिला है। जी-20 दुनिया के वे बीस बड़े देश हैं, जहां विश्व की 60 फीसदी आबादी निवास करती है। 75 प्रतिशत ट्रेड पर उनका अधिकार है। साथ ही 85 प्रतिशत जीडीपी, इनोवेशन, रिसर्च और पेटेंट पर अधिकार है। आज हमारे लिए ये गर्व का विषय है कि इस जी-20 का नेतृत्व भारत को और इसके आतिथ्य का अवसर यूपी को प्राप्त हुआ है। 

मानवता पर जब भी खतरा आएगा, भारत होगा उम्मीद की किरण
मुख्यमंत्री ने कहा कि दुनिया आज भारत की ओर उत्साह और उमंग के साथ देख रही है। वन अर्थ, वन फैमली, वन फ्यूचर की भावना को ध्यान में रखते हुए भारतीय मनीषियों की सोच को चरितार्थ करने का अवसर यूपी के पास आया है। दुनिया के बीस बड़े देशों के प्रतिनिधि और 9 मित्र देशों के प्रतिनिधि भी इस आयोजन के साथ जुड़ेंगे। यह हमारे लिए आनंद का विषय होगा कि आतिथ्य सेवा के साथ-साथ देश ने विकास की जिन नई ऊंचाइयों को छुआ है, उन्हें प्रदर्शित करने का अवसर हमें प्राप्त हो रहा है। लखनऊ में 13 से 15 फरवरी के बीच आयोजन होना है। यूपी ने तकनीकी के क्षेत्र में जिस प्रकार की सक्षमता को प्राप्त किया है, उसे प्रदर्शित करने का अवसर हमें प्राप्त होगा। हमें अतिथि देवो भव: का उत्कृष्ट उदाहरण प्रस्तुत करने की आवश्यक्ता है। पूरी दुनिया के अंदर एक संदेश देने की आवश्यक्ता है कि दुनिया जब भी संकट में होगी, मानवता के ऊपर कोई खतरा आएगा, उस वक्त आशा भरी निगाहें कहीं दिखाई देगी तो भारत की धरती से दिखाई देगी। भारत उस काल में दुनिया को नेतृत्व देगा और संकट से उभारकर नई राह दिखाने का कार्य करेगा। 

हर जनपद करे अपनी प्रतिभाओं को प्रोत्साहित

मुख्यमंत्री ने बताया कि फरवरी माह उत्तर प्रदेश के लिए बहुत महत्वपूर्ण होगा। यूपी 10 से 12 फरवरी को ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन की तैयारी रहा है। पूरी दुनिया और देशभर से हर बड़ा निवेशक और उद्यमी यहां आकर प्रदेश की समृद्धि और सामर्थ्य के साथ अपने को जोड़ने का प्रयास करेगा। 10 हजार से ज्यादा उद्यमी यहां आने वाले हैं। इसके बाद 13 से 15 फरवरी के बीच जी-20 के प्रतिनिधिगण, अलग-अलग सेक्टर से आएंगे उनके स्वागत का अवसर लखनऊ को प्राप्त होगा। यूपी 24 जनवरी को अपने स्थापना दिवस का आयोजन करेगा। हर जनपद को इन कार्यक्रमों के साथ जुड़ना चाहिए। अपनी प्रतिभाओं को प्रोत्साहित करना चाहिए। जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में जिन्होंने कुछ भी नया किया है, उन्हें आगे बढ़ने के लिए मंच देना चाहिए। स्थापना दिवस से लेकर 15 फरवरी तक निरंतर कार्यक्रमों की शृंखला शुरू होगी। जी-20 सम्मेलन के सभी आयोजन लगातार अगस्त तक होते रहेंगे। 
जी-20 बहुद्देश्यीय क्रीड़ा हाल का शिलान्यास*
मुख्यमंत्री ने इस दौरान 519 लाख की लागत से केडी सिंह बाबू स्टेडियम में जी-20 बहुद्देश्यीय क्रीड़ा हाल का शिलान्यास किया। इस अवसर पर डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने जी-20 के लोगो युक्त झंडे को मुख्यमंत्री को सौंपा। मुख्यमंत्री ने झंडा दिखाकर और गुब्बारे उड़ाकर वॉकाथन को केडी सिंह बाबू स्टेडियम के लिए रवाना किया। वॉकाथन में युवा खिलाड़ी, एनसीसी कैडेट्स, एनएसएस के वालंटियर्स, सिविल डिफेंस, बेसिक शिक्षा परिषद् के खेल शिक्षक, नेहरू युवा केंद्र और प्रांतीय रक्षा दल के जवान, एनडीआरएफ और पीएसी बैंड के सदस्य शामिल रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मेदांता में इलाज करा रहे इस आईएएस अधिकारी का हुआ निधन

जौनपुर में फिर तड़तड़ायी गोलियां एक युवक गम्भीर रूप से घायल बदमाश फरार, पुलिस अंधेरे में चला रही छानबीन की तीर

थाना चन्दवक की वसूली लिस्ट वायरल होने पर एक बार फिर सुर्खियों में पुलिस जांच शुरू