अब पूर्वांचल विश्वविद्यालय से ही सभी परीक्षा केन्द्रो की हो सकेगी निगरानी - कुलपति


जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय से अब तीन जनपद के परीक्षा केंद्रों पर सीधी नजर रखी जाएगी। इसके लिए जौनपुर, गाजीपुर व हंडिया के 354 परीक्षा केंद्रों पर लगे सीसीटीवी कैमरे को विश्वविद्यालय के प्रशासनिक भवन से जोड़ दिया गया है। कुलपति प्रोफेसर निर्मला एस मौर्या ने परीक्षा की सुचिता व पारदर्शिता बनाए रखने की दिशा में यह कदम उठाया है।
कुलसचिव महेंद्र कुमार ने प्रोफेसर सुरजीत कुमार को केंद्र का प्रभारी भी नियुक्त कर दिया है। विश्वविद्यालय से संबद्ध गाजीपुर, जौनपुर व हंडिया प्रयागराज के करीब 552 महाविद्यालयों की यूजी-पीजी सेमेस्टर परीक्षा 354 केंद्रों पर चल रही है। सभी परीक्षा केंद्रों को सीसीटीवी कैमरों से दुरुस्त रखने का निर्देश पहले ही दिया गया था।
कालेज की कैमरे से निगरानी पहले विश्वविद्यालय परिसर के दो स्थानों से की जा रही थी, लेकिन 354 परीक्षा केंद्रों पर एक समय में, एक साथ नजर रखना विश्वविद्यालय प्रशासन के लिए मुश्किल साबित हो रहा था। दो-दो छोटी एलईडी पर इतने अधिक परीक्षा केंद्रों की निगरानी करने में विश्वविद्यालय प्रशासन को दिक्कत आ रही थी। यदि एक परीक्षा केंद्र पर चल रही परीक्षा की जानकारी करना हो तो कालेज कोड डालकर चेक करना पड़ता था। इसलिए सभी केंद्रों पर एक साथ नजर रखना संभव नहीं हो पा रहा था।
कुलपति ने 354 कॉलेजों में चल रही यूजी-पीजी सेमेस्टर परीक्षा की व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त रखने के उद्देश्य से अपने कार्यालय के बगल में ही केंद्रीय निगरानी केंद्र की स्थापना की है। यहां कई बड़ी एलईडी लगाई गई है। इससे तीनों जिले के सभी परीक्षा केंद्रों की परीक्षा के साथ ही विश्वविद्यालय परिसर व विभिन्न संस्थानों की गतिविधियों पर नजर रखी जा सके। कहीं भी, किसी भी परीक्षा केंद्र पर कोई गड़बड़ी मिलती है तो वीडियो रिकॉर्ड कर वहां के जिम्मेदार और संस्थान के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
पूर्वांचल विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो निर्मला एस मौर्य के अनुसार यूजी- पीजी की सेमेस्टर परीक्षा चल रही है। व्यवस्था दुरुस्त रखने के उद्देश्य से तीन जिले के 354 परीक्षा केंद्रों के सीसीटीवी कैमरे विश्वविद्यालय के प्रशासनिक भवन में स्थापित केंद्रीय निगरानी केंद्र से जोड़ दिए गए हैं। इससे अब विश्वविद्यालय में बैठा कोई भी जिम्मेदार व्यक्ति परीक्षा केंद्रों पर नजर रख सकेगा। गड़बड़ी प्रतीत होने पर वीडियो रिकॉर्ड कर परीक्षा केंद्रों खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Comments

Popular posts from this blog

जिले के पांच प्राथमिक विद्यालयो के औचक निरीक्षण में तीन विद्यालय के मास्टरो को मिली कारण बताओ नोटिस, रोका गया वेतन

स्कूल के आफिस में प्रिसिंपल और टीचर की अश्लील हरकते हुई वायरल,पुलिस क्यों है बेखबर?

परिषदीय विद्यालयो में डिजिटल उपस्थित का शिक्षको के विरोध के बीच अब सीएम योगी का दखल,जानिए जिम्मेदारो को क्या मिला आदेश