कोहरे की आगोश में आ गया पूर्वांचल, सीजन के पहला दिन घने कोहरे के चलते दृश्यता रही शून्य के आसपास


सर्दी का सितम धीरे-धीरे गहराता जा रहा है इसी के साथ प्रदेश में कोहरे की धुन्ध पूरे वातावरण को अपनी आगोश में समेट ली है जिसके कारण दिन में गुरुवार को अंधेरा छाया रहा। मौसम विज्ञानी के अनुसार घने कोहरे की चादर अभी जारी रहेगी और इसका घनत्व लगातार अभी बढ़ता रहेगा। गुरूवार की सुबह पूर्वांचल के वाराणसी मंडल सहित लखनऊ, कानपुर, आगरा, प्रयागराज आदि मंडलो में अत्यधिक घना कोहरा छाया रहा और दृश्यता शून्य पहुंच गई। मौसम विभाग के मुताबिक आगे भी यही स्थिति बने रहने के आसार हैं। इसे देखते हुए मौसत विभाग की ओर से बृहस्पतिवार के लिए प्रदेश में कई जिलों और इलाकों में अत्यधिक घने कोहरे का अलर्ट जारी किया गया है। इस सीजन में पहली बार दृश्यता शून्य पहुंच गई। आंचलिक विज्ञान केंद्र के वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अतुल कुमार सिंह के मुताबिक मौसम में पश्चिमी विक्षोभ का असर बना हुआ है और इसके कारण नमी की अधिकता है और हवा भारी हुई है। इसी का नतीजा है कि घना कोहरा छा रहा है। अभी यह क्रम जारी रहेगा। कहीं कहीं दृश्यता 50 मीटर से भी कम हो जाने की संभावना है।
इसके पहले बुधवार को कोहरे का असर दिन भर छाया रहा। इसके चलते तापमान में भी गिरावट देखी गई। कई इलाकों में अधिकतम तापमान 20 डिग्री के नीचे पहुंच गया और सामान्य रूप से 2 डिग्री तक गिरावट दर्ज की गई। जबकि हमीरपुर में न्यूनतम तापमान सबसे कम 5.2 डिग्री, मेरठ में 8.6, मुरादाबाद में 8.8, नजीबाबाद में 7.6, फतेहगढ़ में 8.5, कानपुर नगर में तापमान 6.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पूर्वांचल के अन्य इलाकों में तापमान 9 डिग्री से लेकर 12 डिग्री के बीच रहा। 29 दिसंबर से पूर्वा हवा का प्रभाव आने से तापमान में गिरावट थमेगी और कोहरे के प्रभाव में आंशिक कमी आने के आसार हैं।

Comments

Popular posts from this blog

डीएम जौनपुर ने चार उप जिलाधिकारियों का बदला कार्यक्षेत्र जानें किसे कहां मिली नयी तैनाती देखे सूची

पुलिस भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले में जौनपुर की अहम भूमिका एसटीएफ को मिली,जानें कहां से जुड़ा है कनेक्शन

जौनपुर में आधा दर्जन से अधिक थानाध्यक्षो का हुआ तबादला,एसपी ने बदला कार्य क्षेत्र