कानूनगो को घूस लेते रंगेहाथ भ्रष्टाचार निवारण संगठन ने किया गिरफ्तार, भेजा जेल


जौनपुर। एक माह के अन्दर भ्रष्टाचार निवारण संगठन द्वारा कई भ्रष्टाचारियों को जेल भेजने के साथ यह संकेत साफ दे दिया है कि भ्रष्टाचार कितना गहरा जड़ जमा चुका है। बगैर धनोपार्जन के कोई काम संभव नहीं है। जी हाँ नया मामला तहसील बदलापुर का सामने आया है।भूमि के सीमांकन के नाम पर सात हजार रुपये की रिश्वत लेते बदलापुर तहसील के एक कानूनगो (राजस्व निरीक्षक) को भ्रष्टाचार निवारण संगठन वाराणसी की टीम ने मंगलवार की शाम को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। उसे लोहिंदा चौराहे के पास से गिरफ्तार किया गया।
बदलापुर तहसील के तेजीबाजार थाना क्षेत्र में स्थित सलामतपुर निवासी रविंद्र कुमार मौर्य की भूमिधरी जमीन से सटी परती जमीन का सीमांकन किया जाना था। उस सीमांकन के बदले उस क्षेत्र के कानूनगो रामसकल यादव रिश्वत मांग रहे थे। इसकी शिकायत रविंद्र ने भ्रष्टाचार निवारण संगठन से की थी। इसी आधार पर मंगलवार की शाम को बदलापुर पहुंची वाराणसी इकाई की टीम ने लोहिंदा चौराहे के पास स्थित एक मिष्ठान भंडार से सात हजार रुपये लेते समय गिरफ्तार कर लिया। टीम में टीम प्रभारी निरीक्षक उपेंद्र सिंह यादव, अशोक कुमार सिंह, संध्या सिंह, मुख्य आरक्षी शैलेंद्र कुमार राय, पुनीत कुमार सिंह आदि शामिल थे।
यहां बता दें कि भ्रष्टाचार के मामले में इसी महीने भ्रष्टाचार निवारण इकाई की टीम ने लोक निर्माण विभाग के एक लिपिक को भी गिरफ्तार किया था। तीन जनवरी को जौनपुर के स्थित पीडब्ल्यूडी कार्यालय के सामने से 45 हजार रुपये रिश्वत लेते समय लिपिक योगेंद्र यादव को गिरफ्तार किया था। वह एक ठेकेदार से बिल भुगतान करने के बदले 45 हजार रुपये घूस ले रहा था।

Comments

Popular posts from this blog

भीषण दुर्घटना एक परिवार के आठ सदस्यो की दर्दनाक मौत, पुलिस ने किया विधिक कार्यवाई, इलाके में कोहराम

जौनपुरिया दूल्हा स्टेज पर पिया गांजा तो दुल्हन ने किया शादी से इन्कार,पुलिसिया हस्तक्षेप के बाद बगैर दुल्हन के लौटे बाराती

एक लाख रुपए घूस लेते हुए लेखपाल चढ़ा एन्टी करप्शन टीम के हाथ पहुंच गया सलाखों के पीछे जेल