रामचरितमानस पर टिप्पणी के मामले में सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य को नोटिस जारी जानें कब है पेशी की तिथि


सपा नेता और पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। मौर्य द्वारा हिंदू धार्मिक ग्रंथ रामचरितमानस पर आपत्तिजनक टिप्पणी के मामले में दाखिल निगरानी याचिका जिला जज की अदालत ने मंजूर कर ली है। अदालत ने 11 दिसंबर को सुनवाई की अगली तारीख नियत करते हुए स्वामी प्रसाद मौर्य को नोटिस जारी करने का आदेश पारित किया है।
पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य द्वारा हिंदू धार्मिक ग्रंथ रामचरितमानस पर आपत्तिजनक टिप्पणी के मामले में दाखिल निगरानी याचिका जिला जज की अदालत ने मंजूर कर ली। अधिवक्ता अशोक कुमार की तरफ से दाखिल निगरानी याचिका में कहा गया कि स्वामी प्रसाद मौर्य द्वारा की गई बेतुकी टिप्पणी से देश-विदेश के कई हिंदू भाई-बहनों की आस्था को ठेस पहुंचाया गया है।
इस तरीके का कृत्य करके एमएलसी स्वामी प्रसाद मौर्य ने धार्मिक उन्माद को समाज मे फैलाकर लोगों के मध्य जाति, धर्म, भेदभाव उत्पन्न कर अराजकता को बढ़ाने का और आपसी सौहार्द को बिगाड़ने का प्रयास किया है, जो क्षम्य नहीं है। प्रभारी जिला जज सुभाष चंद्र तिवारी ने निगरानी याचिका सुनवाई हेतु मंजूर करते हुए 11 दिसंबर को सुनवाई की अगली तारीख नियत करते हुए समाजवादी पार्टी के एमएलसी स्वामी प्रसाद मौर्य को नोटिस जारी करने का आदेश पारित किया।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद