आर एस एस प्रचारक इन्द्रेश कुमार का तांडव फिल्म के निर्माताओं पर हमला जाने क्या कहा



तांडव फिल्म के निर्माताओं ने भले ही माफ़ी मांग ली हो लेकिन हिंदूवादी संगठन उन्हें बख्शने के मूड में नहीं हैं. वाराणसी पहुंचे आरएसएस के वरिष्ठ प्रचारक इंद्रेश कुमार शुक्रवार को मीडिया से बात करते हुए कहा कि देश के अंदर किसी भी व्यक्ति को किसी धार्मिक आधार पर ठेस पहुंचाने की कोई इजाजत नहीं है. भारत का संविधान, कानून और नियम और मानवता इस बात की इजाजत नहीं देती जो कुछ भी वहां के कलाकारों ने किया वह अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण भी है. निंदनीय है, अशोभनीय भी है. उन्हें उन दृश्यों को काटना चाहिए और सचमुच में अगर कलाकार हैं तो उन्हें निर्भीक होकर समाज से इसकी क्षमा याचना करनी चाहिए.

इन्द्रेश कुमार यही नहीं रुके. उन्होंने कि भारत यह सिखाता है दूसरे का सम्मान करोगे तो भाईचारा सद्भाव प्यार और विकास हिलोरे लेगा. फिल्म के निर्माता ने भारत के संविधान में घोर अपमान किया है. यह पूज्य बाबा साहब और संविधान निर्माताओं का भी अपमान हैं. उन्हें इसके लिए क्षमा याचना करनी चाहिए. इतना ही कहूंगा कि देश डेमोक्रेटिक है.

पश्चिम बंगाल में जारी चुनावी हिंसा पर भी इन्द्रेश कुमार ने बेबाकी से अपनी राय रखी. उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी को इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि वहां का चुनाव दिन-प्रतिदिन हिंसा की ओर बढ़ रहा है. अहिंसा को भूलता जा रहा है. उन्हें लोकतंत्र की रक्षा करनी चाहिए और इस बात को शेयर करना चाहिए. अभी तक तो यह कहा जा सकता है ममता बनर्जी पूरी तरह से डेमोक्रेसी बचाने मे नाकामयाब है.

कोरोना वैक्सीन को लेकर हो रहे राजनीति पर भी उन्होंने कटाक्ष किया.कोरोना वायरस को भारत ने मार भगाया. जो लोग वैक्सीन को लेकर के भ्रम पैदा कर रहे हैं, उनको शर्म आनी चाहिए और उनको माफी भी मांगनी चाहिए.सारा विश्व भारत की वैक्सीन लेना चाहता है और भारत सब को मुफ्त देने को तैयार है.

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

स्वागत कार्यक्रम में सपाईयों के बीच मारपीट की घटना से सपा की हो रही किरकिरी

हलाला के नाम पर मुस्लिम महिला के साथ सामुहिक दुष्कर्म, मुकदमा दर्ज मौलाना फरार

मारपीट की घटना को विधायक एवं उनके समर्थको पर लूट तक का मुकदमा हुआ दर्ज